हकेवि में ड्राई मिक्स मोर्टार टेक्नो,लॉजी पर केन्द्रित वेबिनार आयोजित

 

  • -स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोोलॉजी ने क‍िया आयोजन

महेन्द्रगढ़ । हर‍ियाणा केन्‍‍‍‍‍‍द्रीय विश्वविद्यालय (हकेवि), महेंद्रगढ़ में निर्माण के क्षेत्र में तेजी से प्रसिद्ध हो रही ड्राई मिक्स मोर्टार टेक्नोनलॉजी के महत्वन पर केन्द्रित वेबिनार का आयोजन किया गया। विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (एसओईटी) के द्वारा आयोजित इस वेबिनार में विशेषज्ञ वक्ता के रूप में जनरल मैनेजर एंड जोनल हेड (नार्थ) कस्टमर टेक्निकल सर्विसेज, जेके सीमेंट लिमिटेड श्री आर.के.झा उपस्थित रहे। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.आर.सी.कुहाड़ ने विद्यार्थियों के लिए उनके पाठ्यक्रम पर केन्द्रित इस वेबिनार को बेहद उपयोगी बताया और अपने सन्देश के माध्यम से कहा कि अवश्य ही इस आयोजन से विद्यार्थियों को निर्माण के क्षेत्र में तेजी से अपनी पकड़ बना रही इस नई तकनीक को जानने में मदद मिलेगी।
स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के सिविल इंजीनियरिंग विभाग के अध्यक्ष डॉ.विकास गर्ग ने वेबिनार के आरम्भ में विशेषज्ञ वक्ता का परिचय प्रस्तुत किया। उन्होंने बताया कि किस तरह से श्री आर.के.झा निर्माण के क्षेत्र में ड्राई मिक्स मोर्टार टेक्नोशलॉजी के साथ कार्य कर रहे हैं। डॉ.विकास गर्ग ने इस आयोजन के लिए एसओईटी के डीन डॉ.अजय बंसल का भी उल्लेख करते हुए उनके सहयोग व मार्गदर्शन के लिए आभार व्यक्त किया। श्री आर.के.झा ने अपने संबोधन में बताया कि किस तरह से इस तकनीक के माध्यम से निर्माण के क्षेत्र में बदलाव आया है। उन्होंने बताया कि इस टेक्नोलॉजी के अंतर्गत निर्माण में प्रयोग होने वाली विभिन्न प्रकार की सामग्री के उपयोग व उनके फायदों से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि किस तरह से आज निर्माण के क्षेत्र में प्लास्टर, वाल केयर पुट्टी से लेकर ब्रिक्स और टाइल के स्तर पर इस तकनीक की मदद से निर्माण कार्य को सहज और समय कि बचत व कम खर्च में किया जा रहा है। श्री आर.के.झा ने वेबिनार के अंत में प्रतिभागियों की ड्राई मिक्स मोर्टार टेक्नोहलॉजी से सम्बंधित विभिन्न प्रश्नों के भी जवाब दिए।
कार्यक्रम के अंत में सिविल इंजीनियरिंग विभाग के सहायक आचार्य डॉ. रण बीर सिंह ने धन्यवाद ज्ञापन प्रस्तुत किया। इस वेबिनार के आयोजन सचिव डॉ. रण बीर सिंह व डॉ.विकास कुमार ने बताया कि यह आयोजन सिविल इंजीनियरिंग विभाग, स्टूडेंट्स चेप्टर ऑफ इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स (इण्डिया) व जेके सीमेंट लिमिटेड के साझा प्रयासों से किया गया जिसमें विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों, शिक्षकों व शोधार्थियों ने हिस्सा लिया।