अरुण साहू संसद सुरक्षा  की व्यवस्था के एक अनमोल रत्न
       

 संसद पर हमले के बाद सुरक्षा बल के आधुनिकीकरण की बात आई तो एक सक्षम अधिकारी के रूप में अरुण कुमार साहू का नाम सर्वोपरि था इसीलिए आधुनिकीकरण का महत्वपूर्ण दायित्व इन्हे दिया गया अपने दायित्यों के प्रति निष्ठां एवं समर्पण के लिए साहू की सेवाएं अनुकरणीय रूप में याद की जायेगी इस बात का उल्लेख करते हुए संसद सुरक्षा बल के निदेशक भुवन चंद्र जोशी ( उपमहानिरीक्षक पुलिस  ) ने साहू के 36 वर्ष के लम्बे सेवाकाल की उनके अभिनंदन समारोह में मुक्त कंठ से प्रशंसा की और संयुक्त निदेशक पद से सेवानिवत्ति के बाद की नयी पारी के प्रति पुरे विभाग की ओर शुभकामनाएं दी  ओर  विभागीय व्यवस्था का एक अनमोल रत्न बताया l
   राजीव शर्मा विशेष निदेशक राज्य सभा सचिवालय सुरक्षा , श्री बी के राय निदेशक (स्किल्ल डेवलपमेंट ) , वरिष्ठ अधिकारी कृष्ण प्रसाद बालियान  ने भी  साहु  की कार्य दक्षता, मानवीयता, साहसी सोच , मधुर भाषी  तथा  मित्रवत व्यक्तित्व के  स्मरणों का अपने भाषण में विशेष उल्लेख किया l कार्यक्रम का संचालन विजय गौड़ वरिष्ठ पत्रकार एवं महासचिव भागीदारी जन सहयोग समिति ने किया तथा कार्यक्रम का संयोजन सुशांत दास समाजसेवी ने किया l
     इस अवसर पर रविन्द्र प्रधान, गजेन्द्र सामन्त, शरत देहूरि, बरोदा कृष्ण रथ, अशोक प्रधान, आनंद ओझा एबं सहयोगी दयानंद, प्रदीप राय, कृष्ण प्रसाद बालियन, अजय ठाकुर,  दीपक परमार एवं उड़ीसा परिवार से वरिष्ठ पदों पर आसीन अनेकों अधिकारी गण उपस्थित थेl