उत्तर प्रदेश में एससी/एसटी छात्रों को मिलेगी छात्रवृत्ति 
अभी तक 2 लाख था छात्रवृत्ति का वार्षिक मानक

 

 लखनऊ । उत्तर प्रदेश में अब 2.5 लाख वार्षिक आय पर एससी/एसटी परिवार के छात्रों को छात्रवृत्ति का लाभ मिलेगा। अभी तक आय मानक 2 लाख रुपये था। सरकार के फैसले के मुताबिक सूबे के समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री ने वित्तीय वर्ष 2018-19 में छात्रवृत्ति व प्रतिपूर्ति की आनलाइन शुरूआत भी कर दी है। उन्होंने खुद 14 छात्रों को नई व्यवस्था के तहत छात्रवृत्ति का वितरण किया। 
     महात्मा गांधी की जयंती पर यहां समाज कल्याण निदेशालय में कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस मौके पर मंत्री रमापति शास्त्री और विभाग के अधिकारियों ने स्वच्छता अभियान के तहत झाड़ू लगाकर सफाई भी की। उन्होंने वहां नीम का पौधा भी लगाया। श्री शास्त्री ने बताया कि अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के पूर्वदशम और दशमोत्तर के छात्रों के लिए छात्रवृत्ति का लाभ देने को उनके माता-पिता/अभिभावक की आय सीमा 2.00 लाख से बढ़ाकर 2.50 लाख वार्षिक कर दी गयी हेै।छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति के लिए नयी व्यवस्था के अनुसार छात्रवृत्ति का वितरण साल में दो चरणों में होगा। उन्होने बताया कि पूर्वदशम एससी/एसटी के छात्रों को दी जा रही धनराशि 150 रुपये प्रतिमाह से बढ़ाकर 225 रुपये (कुल 10 माह के लिए) किया गया है। इस कारण पूर्व से एकमुश्त सहायता धनराशि 750 रुपये मिलाकर मिलने वाली कुल 2250 रुपये की धनराशि बढ़ाकर अब 3000 रुपये की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के ऐसे छात्र जो राज्य से बाहर पढ़ रहे हैं, उन्हें सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त संस्थाओं में अध्ययन करने के लिए सामान्य वर्ग के छात्रों को भी योजना शुरू की गयी है। श्री शास्त्री ने बताया कि छात्रों को आनलाइन आवेदन की समय सीमा बढ़ाकर 10 अक्टूबर किया गया है। छात्र आनलाइन आवेदन कर इसका लाभ ले सकेंगे। प्रमुख सचिव, समाज कल्याण मनोज सिंह ने बताया कि अनुसूचित जाति पूर्वदशम एवं दशमोत्तर छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति योजना वित्तीय वर्ष 2018-19 में एक अक्टूबर 2018 तक 18,78,557 छात्रों द्वारा आवेदन किया गया है जिसमें से 7,15,621 छात्रों तथा सामान्य वर्ग पूर्वदशम एवं दशमोत्तर छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति योजना के तहत 10,37,847 छात्रों द्वारा आवेदन किया गया है जिसमें से 3,36,361 छात्रों के आवेदन संस्था द्वारा अग्रसारित किये गये हैं। शास्त्री ने इन छात्रों को दी छात्रवृत्ति- श्री शास्त्री ने प्रथम चरण की छात्रवृत्ति और प्रमाण पत्र का प्रतीकात्मक रूप से बीटेक के 14 छात्र-छात्राओं को किया। इनमें दीपक कुमार, जितेन्द्र कुमार, रंजना, अंकित कुमार, लक्ष्मी देवी, काजल, अमर सिंह, सरिता भारती, तान्या श्रीवास्तव,अंकित सिंह चौहान, वैभव सिंह,पारितोष पाण्डेय, अंकिता सिंह व हिमांशु राय शामिल हैं।