गुरुजी के तबादले के विरोध में सड़क पर उतरे बच्चे
 
जोधपुर । सीमावर्ती जैसलमेर शहर के सबसे बड़े सरकारी स्कूल के विद्यार्थी आंदोलन की राह पर हैं। स्कूली बच्चे बीच सत्र में दो शिक्षकों के तबादलों का विरोध कर रहे हैं। राज्य सरकार ने एक आदेश जारी कर इस स्कूल के दो शिक्षकों का तबादला करीब 800 किलोमीटर दूर झालावाड़ कर दिया। इसको लेकर राजनीति भी गरमाना शुरू हो गई है। सोशल मीडिया पर लोग शिक्षकों का इतनी दूर तबादला कर ने पर जमकर अपनी भड़ास निकाल रहे हैं। शिक्षकों के तबादलों में हुई राजनीति के पीछे एक कोचिंग संस्थान की भूमिका भी बताई जा रही है। प्रदेश में अमूमन इतनी दूर तबादले शिक्षकों के अनुरोध के बगैर अमूमन नहीं होते हैं। माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने एक आदेश जारी कर जैसलमेर शहर के सबसे बड़े शहीद सागरमल गोपा सीनियर सेकंडरी स्कूल के दो शिक्षकों भौतिक विज्ञान के विक्रम सिंह जंगा और गणित के सचिन चतुव्रेदी का तबादला सीएम वसुंधरा राजे के गृह जिले झालावाड़ में कर दिया। बुधवार सुबह स्कूल में यह समाचार फैलते ही सभी बच्चे दोनों शिक्षकों के समर्थन में सड़क पर उतर आए। उन्होंने प्रदर्शन कर नारेबाजी की। इसके बाद कुछ लोगों ने जिला कलक्टर सहित विधायक से अनुरोध किया कि इन शिक्षकों का तबादला निरस्त कराया जाए। दो शिक्षकों का तबादला 800 किमी दूर करने पर लोग सोशल मीडिया पर जमकर अपनी भड़ास निकाल रहे है। लोगों ने आरोप लगाया कि राजनीतिक कारणों से दोनों का तबादला किया गया। वहीं कुछ लोग आरोप लगा रहे है कि शहर के एक कोचिंग संस्थान की इन तबादलों में प्रमुख भूमिका है। बच्चों को अच्छे तरीके से पढ़ाने वाले इन दोनों शिक्षकों के कारण कोचिंग संस्थान में बच्चे पढ़ने कम जा रहे हैं।