डीयू : पहली बार साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट लेंगे क्लासेज
  •  
  • पीजी डिप्लोमा कोर्स इन साइबर सिक्योरिटी एंड लॉ की पढ़ाई शुरू
  • पूरी कोर्स की पढ़ाई साइबर एक्सपर्ट द्वारा ही कराई जाएगीइंस्टीटय़ूट ऑफ साइबर सिक्योरिटी एंड लॉ का कोर्सशहीद सुखदेव कॉलेज ऑफ बिजनेस स्टडीज में चलेगा कोर्स
 
 राकेश नाथ
नई दिल्ली। आम तौर पर दिल्ली विविद्यालय के किसी भी कोर्स में डीयू के शिक्षक द्वारा ही क्लासेज ली जाती है लेकिन पहली बार डीयू के साइबर सिक्योरिटी कोर्स की पढ़ाई के पहले दिन से ही साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट द्वारा क्लासेज ली जाएंगी। इंस्टीट्यूट ऑफ साइबर सिक्योरिटी एंड लॉ द्वारा शुरू किए जा रहे पीजी डिप्लोमा कोर्स इन साईबर सिक्योरिटी एंड लॉ की पढ़ाई डीयू की फैकल्टी द्वारा नहीं बल्कि साइबर उद्योग से जुड़े साइबर एक्सपर्ट द्वारा कराई जाएगी। ऐसा पहली बार हो रहा है कि इंस्टीटय़ूट द्वारा शुरू किए गए इस नए कोर्स का नया सत्र सोमवार को शुरू होने जा रहा है। इन नए विद्यार्थियों के लिए साइबर उद्योग से जुड़े साईबर एक्सपर्ट को ही नियुक्त किया गया है। इंस्टीटय़ूट की ओएसडी डॉ. सुनैना कनौजिया ने बताया कि इस कोर्स की पढ़ाई के लिए 90 फीसद शिक्षक साइबर एक्सपर्ट रखे गए हैं। ऐसे एक्सपर्ट की संख्या करीब 36 है, जो विद्यार्थियों को साईबर सिक्योरिटी एंड लॉ की पढ़ाई कराएंगे। यह कोर्स कुल एक साल का है। डॉ. कनौजिया ने बताया कि यह कोर्स सेल्फ फाइनेंस मोड में चलेगा। यह कोर्स शहीद सुखदेव बिजनेस ऑफ स्टडीज में शुरू हुआ है। यहां साईबर सिक्योरिटी स्टेट ऑफ लैब भी स्थापित किया गया है। इसी कॉलेज में पढ़ाई होगी और परीक्षाएं भी होंगी। इस कोर्स में 40 फीसद योरी परीक्षाएं, 40 फीसद प्रैक्टिकल परीक्षा व 20 फीसद प्रैक्टिकल पूरे साल चलेगा। एक साल के इस कोर्स को चलाने के लिए डीयू ने साईबर उद्योगों से नॉलेज पार्टनरशिप की है। इस कोर्स को चलाने के लिए 36 व 40 एक्सपर्ट आएंगे और विद्यार्थियों को पढ़ाएंगे। कुछ एक्सपर्ट डीयू शिक्षक भी होंगे, जिनका शोध साईबर सिक्योरिटी में किया होगा। इस कोर्स में कुल दो सेमेस्टर होंगे, जिसमें छह-छह पेपर होंगे। विद्यार्थियों को प्रोजेक्ट कराया जाएगा। कोई बैकिंग, हेल्थकेयर, ई-कॉमर्स, क्लाउड सिक्योरिटी आदि का प्रोजेक्ट कराएंगे। ओएसडी ने कहा कि इस कोर्स को पहले दिन से उद्योग के साथ जोड़े जाने का एक उद्देश्य है कि विद्यार्थियों के प्लेसमेंट में भी आसानी हो जाए। साईबर सिक्योरिटी ऐसा विषय है कि जो लोग इस पर काम कर रहे हैं, वही विद्यार्थियों को सही मायने में शिक्षा दे सकते हैं। इस कोर्स में कुल 57 विद्यार्थियों का दाखिला हुआ है। इस कोर्स का नया सत्र सोमवार को शुरू हो रहा है। लिहाजा पहले दिन नये विद्यार्थियों का पहले ओरियंटेशन होगा, फिर क्लासेज शुरू होंगी।  
साभार राष्ट्रीय सहारा