डूंगरपुर नगर परिषद् ने शुरू की  प्रतियोगी परीक्षाओ की कोचिंग 
 
डूंगरपुर -स्वच्छता और पर्यटन में प्रदेश में अपना लोहा मनवाने वाली डूंगरपुर निकाय के सभापति के.के.गुप्ता ने आज शिक्षा क्षेत्र में एक और नवाचार करते हुए प्रदेश सरकार द्वारा निकाली गयी  प्रतियोगी परीक्षाओ की निशुल्क कोचिंग  शुरु की है।   सभापति के.के.गुप्ता ने  प्रतियोगियों को अपनी शुभकामनाये देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कमाना करते हुए कहा की नगरपरिषद शहर के प्रतियोगी परीक्षाओ में भाग लेने वाले युवाओ की शिक्षा को लेकर कटिबद्ध है। सभापति ने कहा की प्रदेश सरकार की मुख्यमंत्री द्वारा बेरोजगार युवाओ के लिए विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओ के माध्यम से कई पदों हेतु भर्ती निकाली है,राजस्थान सरकार ने अपने चार साल के कार्यकाल में सबका साथ सबका विकास के नारे को सिद्ध करते हुए प्रदेशवासियों को सरकार की महत्वकांशी योजना का लाभ पहुंचाया है इसी क्रम में प्रदेश सरकार की यशस्वी मुख्यमंत्री ने बेरोजगार युवाओ के लिए इतने सारे पद निकालकर सिद्ध कर दिया की सरकार सोच नयी,काम कई और अच्छा काम,ठोस परिणाम में विश्वास रखती हैं एवं रोजगार के क्षेत्र में इतनी सारी भर्ती निकालकर बेरोजगार  युवाओ के लिए सुनहरा मौका दिया है। प्रदेश की मुख्यमंत्री और प्रदेश के स्वायत शासन मंत्री श्रीचंद कृपलानी के कुशल नेतृत्व में डूंगरपुर नगरपरिषद ने सरकार की प्रत्येक योजना को धरातल पर लागू कर शहर के अंतिम व्यक्ति को योजनाओ से लाभान्वित किया है। नगरपरिषद डूंगरपुर ने कौशल विकास और रोजगार के क्षेत्र में ऐतिहासिक कार्य करते हुए बेरोजगार युवाओ को कम्प्यूटर प्रशिक्षण,गरीब और जरूरतमंद महिलाओ को सिलाई मशीन प्रशिक्षण और जरूरतमन्द बच्चो को निशुल्क कोचिंग देने का कार्य कर रही है।  ज्ञात रहे नगरपरिषद द्वारा शहरी क्षेत्र के जरूरतमंद युवाओ के लिए कोचिंग कक्षाएं प्रारम्भ की गयी है और शहरी क्षेत्र के युवाओ के एक बेच की संख्या पूर्ण हो गयी,इसमें शहरी क्षेत्र के बाहर का व्यक्ति आवेदन नहीं करे।