पंजाब के कालेज शिक्षक विभिन्न मांगों को लेकर सामूहिक अवकाश पर गये  
 
 
     चंडीगढ।  पंजाब के छह हजार से अधिक सरकारी और गैर-सरकारी कालेजों के छह हजार से अधिक शिक्षक वेतनमान में बढोत्तरी सहित अन्य मांगों के समर्थन में सामूहिक अवकाश पर चले गये।
      पंजाब विविद्यालय एवं महाविद्यालय शिक्षक संगठन महासंघ के बैनर तले राज्य के कई भागों के प्रदर्शनकारी शिक्षकों ने यहां एकत्रित होकर बुधवार को अपनी मांगों के प्रति कांग्रेस नीत सरकार के ‘‘उदासीन रवैये’’ का विरोध किया।  महासंघ के महासचिव जगवंतं सिंह ने कहा, ‘‘हम सातवें वेतन आयोग की रिपोर्ट के संबंध में यूजीसी की सिफारिशों को लागू करने की मांग कर रहे हैं। हरियाणा सहित कई राज्यों ने कालेजों और विविद्यालयों के शिक्षकों को यूजीसी वेतनमान दिया है लेकिन पंजाब सरकार अब तक ऐसा करने में नाकाम रही है। प्रदर्शनकारी शिक्षकों ने सरकारी कालेजों में नियमित शिक्षकों की भर्ती नहीं करने पर राज्य सरकार कीं निंदा की।