भारतीय संस्कृति में शिक्षकों का सम्मान सर्वोपरि: जयप्रताप 
 
    नोएडा । उत्तर प्रदेश के आबकारी मंत्री जय प्रतापं सिंह ने समाज के निर्माण में शिक्षकों के योगदान को रेखांकित करते हुए कहा कि शिक्षक एक मजबूत राष्ट्र का निर्माण करने में काफी अहम स्थान रखते हैं और भारतीय संस्कृति में शिक्षकों का सम्मान सवरेपरि है।
  जय प्रताप सिंह ने बुधवार को शिक्षक दिवस पर छलेरा गांव स्थित सामुदायिक केंद्र में पब्लिक स्कूल वेलफेयर समिति द्वारा आयोजित शिक्षक सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में यह बात कहीं।  मंत्री ने कई शिक्षकों को उनके सराहनीय कायरें के लिए सम्मानित भी किया। इस अवसर पर स्कूली बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए।    अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि शिक्षक अपनी शिक्षा पण्राली में छात्रों के चरित्र निर्माण तथा अनुशासन पर विशेष रूप से ध्यान दें। विद्यार्थी के जीवन का यह एक मुख्य आधार है और जीवन में आगे चलकर यह काम देते हैं।      इस अवसर पर नोएडा के विधायक पंकजंिसह ने कहा, ‘‘ अच्छा शिक्षक वहीं होता है जो बच्चे का सर्वांगीण विकास करता है। सिर्फ किताब तथा विषयों का ज्ञान ही संपूर्ण शिक्षा नहीं होती है। सर्वांगीण शिक्षा देने वाले शिक्षक को ही समाज में मान्यता दी जाती है। वहीं अच्छा शिक्षक कहलाता है।’’    इस अवसर पर दादरी के विधायक तेजपाल नागर, पूर्व विधायक मदन चौहान तथा अनेक गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।