शिक्षा क्षेत्र के लिए एक हजार करोड़ खर्च किए जाएंगे-सोनी
 
 
जालंधर ।  पंजाब में शिक्षा क्षेत्र के विकास के लिए मुख्यमंत्री कैप्टर अमरिंदर सिंह की दृढ़ प्रतिबद्धता दोहराते हुए शिक्षा मंत्री ओ पी सोनी ने आज कहा कि इस क्षेा के कायाकल्प के लिए रोडमैप तैयार है और राज्य सरकार इसके लिए एक हजार करोड़ रुपये खर्च करेगी।
       आईवीवाईर्वल्ड स्कूल में बुधवार को शिक्षक दिवस के अवसर पर आयोजित राज्य स्तरीय समारोह दौरान सभा को संबोधित करते हुए श्री सिंह ने कहा कि राज्य सरकार राज्य में शिक्षा क्षेा की प्राचीन महिमा को बहाल करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि श्री सिंह स्वास्थ्य और शिक्षा के दो मुख्य क्षेाों पर विशेष ध्यान दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस महान मिशन को पूरा करने के लिए कोई कसर बाकी  नहीं छोड़ी जाएगी।
         मंत्री ने  कहा कि यह सभी के लिए बहुत गर्व और संतुष्टि का विषय है कि राज्य भर में 13 हजार  सरकारी स्कूलों में 25 लाख से ज्यादा छा शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार पहले से ही छाों की वर्दी पर 86 करोड़ रुपये, स्मार्ट कक्षाओं  पर 64 करोड़ रुपये, सौर पैनलों पर 30 करोड़ रुपये, लाइब्रेरी किताबों के लिए 5 करोड़ रुपये, खेल के लिए 18 करोड़ रुपये, सैनिटरी पैड के लिए 10 करोड़ रुपये, आरओ नौ करोड़ रुपये की लागत, ग्रीन बोर्ड के लिए दो करोड़, कक्षाओं के लिए 120 करोड़ रुपये, मिड डे मील के लिए 310 करोड़ रुपये पर खच्र कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य में शिक्षा क्षेत्र के लिए धन की कोई कमी नहीं है और इस क्षेत्र के समग्र विकास पर प्रमुख जोर दिया जाएगा।
           इस महान अवसर पर शिक्षकों को बधाई देते हुए शिक्षा मंत्री ने कहा कि शिक्षक दिवस के अवसर पर अत्यधिक समर्पण और ईमानदारी से अपना कर्तव्य निर्वहन करने के लिए प्रतिज्ञा करें। उन्होंने कहा कि शिक्षकों को सरकारी स्कूलों के छात्रों की नियति को बदलने के लिए मॉडल शिक्षकों के रूप में उभरने के लिए भारत के महान पूर्व राष्ट्रपति से प्रेरणा लेनी चाहिए।