गरीबों को निवाला पहुंचाने के लिए कारगर होंगी रोटी बैंक - गुप्ता 
 
  • रोटी बैंक संस्था का जरूरतमंद के लिए नायब तोहफा 
  • एक ही दिन में इक्कठे किये 20 लाख 
  • सभापति गुप्ता बने इस नवाचार के जनक 
 
डूंगरपुर - नेक काम के लिए दिल में जज्बा आना ही बड़ी बात है,प्यासे को पानी पिलाना और भूखों को भोजन खिलाने से बढ़कर कोई दूजा पुण्य का काम नहीं।एक कहावत भारत में काफी प्रचलित है कि ‘ऊपरवाला भूखा जगाता जरूर है लेकिन भूखा सुलाता नहीं’।इसी कहावत को सिद्ध करते हुए डूंगरपुर नगरपरिषद के सभापति एवं स्वच्छ राजस्थान के ब्रांड एम्बेसडर के.के.गुप्ता ने डूंगरपुर शहर में रोटी बैंक की स्थापना की है।  
           नगरपरिषद डूंगरपुर ने नगर के विभिन्न समाजसेवियों के सहयोग से अस्पताल के निकट रोटी बैंक की स्थापना की।  सभापति गुप्ता ने बताया की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश की मुखिया वसुंधरा राजे सिंधिया द्वारा देश और प्रदेश में समाज के गरीब एवं जरूरतमंद वर्ग के लोगों के कल्याण के लिए कई योजनाएं संचालित की जा रही हैं। राजस्थान सरकार का भी यह प्रयास है कि राज्य में कोई भी गरीब भूखा न सोये और इसके लिए अन्नपूर्णा योजना द्वारा गरीबों के लिए रोटी की व्यवस्था की गई है। सभापति ने बताया की प्रदेश में पहला नवाचार करते हुए जरूरतमंद लोगो के लिए एक समय का भोजन निशुल्क देने का निर्णय लिया गया है जिससे शहर में रहने वाला जरूरतमंद और बाहर से आने वाला व्यक्ति इस संस्था के द्वारा निशुल्क भरपेट भोजन प्राप्त  सकेगा। 
    सभापति के.के.गुप्ता द्वारा  इस संस्था की घोषणा की गयी तो कई समाजसेवी आगे बढकर इस संस्था से जुड़ते गए। सभापति ने बताया की इस संस्था में पुलिस अधीक्षक शंकर दत्त शर्मा ने इस नेक कार्य में सरंक्षक बनने पर अपनी सहमति दी है वही संस्था में 51 गणमान्य सामजसेवी को ट्रस्टी बनाया जाएगा जो इस संस्था को 1 लाख रुपया देंगे। सभापति ने बताया की इस संस्था में सदस्य भी बनाये जायेगे जो इस संस्था को चलाएंगे।  रोटी बैंक संस्था का एक बैंक अकाउंट खोला जाएगा जिसमे संस्था का पैसा जमा किया जाएगा भविष्य में इस संस्था के द्वारा एम्बुलेंस भी लायी जाएगी जो निशुल्क चलायी जाएगी।