बिहार में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए लनामिवि और यूनीसेफ साथ आये
 
दरभंगा। बिहार में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से प्रतिष्ठित ललित नारायण मिथिला विविद्यालय और संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनीसेफ) के बीच एक समझौता होने जा रहा है। 
     विविद्यालय के कुलपति प्रो. सुरेन्द्र कुमार सिंह ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि छाों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के साथ ही शिक्षा को सबल बनाने के लिए यूनीसेफ एवं ललित नारायण मिथिला विविद्यालय के बीच एक सहमति पा (एमओयू) पर कल हस्ताक्षर होगा। इससे यूनीसेफ की बिहार इकाई और विविद्यालय के बीच एक क्रियात्मक योजना विकसित होगी, जो एजुकेशन रॉलिंग वर्क प्लान 2018-19 पर आधारित होगा।  इसके माध्यम से दूरस्थ शिक्षा निदेशालय शिक्षा के सर्वांगीण विकास के लिए ऐसे कार्यक्रम लागू करेंगे जिससे इसकी पहुंच अधिक से अधिक छाों तक हो सकेगी।               
    श्री सिंह ने कहा, हमारी योजना है कि निदेशालय विभिन्न संस्थानों से अलग होकर स्थानीय एवं राज्य स्तर पर गुणवत्ता अधिगम में सहायक की भूमिका निभाये। इस समझौते से शैक्षिक नेतृत्व को सबलता प्रदान होगी ताकि अधिगम निष्पादन को बेहतर बनाया जा सके। साथ ही शिक्षक संस्थान और शिक्षक सहायता तां को अधिगम निष्पादन को बढ़ावा देने के लिए सबल बनाना है। 
   उल्लेखनीय है कि राज्य में उच्च शिक्षा से जुड़े किसी विविद्यालय के साथ यूनीसेफ के साथ समझौता हो रहा है। यूनीसेफ शिक्षा एवं शिक्षा के लिए दूरस्थ शिक्षा निदेशालय को उत्कृष्ट केन्द्र के रूप में विकसित करना चाहता है। अगले तीन वर्षों में शिक्षक-प्रशिक्षण के लिए कार्यशालाएं आयोजित कर पाठ्यक्रम विकसित करने की योजना है जिसके लिए यूनीसेफ एक करोड़ पैंसठ लाख रुपये उपलब्ध करा रहा है। इस योजना के तहत कुल 21 कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।      
   इस मौके पर विविद्यालय के प्रति कुलपति प्रो. जयगोपाल, कुलसचिव कर्नल निशिथ राय, दूरस्थ शिक्षा निदेशालय के निदेशक डॉ. सरदार अरविन्द सिंह, मीडिया कोषांग के संयोजक प्रो. विनय कुमार चौधरी भी उपस्थित थे।