स्कूलों में महिला कर्मियों की भर्ती का सुझाव दिया मेनका ने


        नयी दिल्ली ।  केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंी मेनका गांधी ने आज कहा कि स्कूलों में बच्चों की शारीरिक और मानसिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए महिला कर्मियों की भर्ती, सीसीटीवी कैमरे और शिकायत करने की सरल व्यवस्था अपनाई जानी चाहिए।
        श्रीमती गांधी ने स्कूली बच्चों की सुरक्षा पर यहां एक उच्च स्तरीय बैठक में भाग लेने के बाद संवाददाताओं से कहा कि बैठक में उन्होंने स्कूलों में सहायक कर्मचारी, ड्राइवर और कंडक्टर के रुप में महिलाओं की भर्ती करने का सुझाव दिया है। इसके अलावा स्कूलों में शिकायत करने की सरल व्यवस्था अपनाई जानी चाहिए जिससे बच्चे आसानी से अपनी बात कह सकें। उन्होंने कहा कि स्कूलों में पोक्सो ई बॉक्स, हेल्पलाइन फोन नंबर और अन्य जानकारी उपलब्ध कराई जानी चाहिए। स्कूलों में सुरक्षा संबंधी प्रावधान कड़ाई से लागू किए जाने चाहिए। श्रीमती गांधी ने कहा कि उन्होंने श्री जावडेकर को एक पा भी सौंपा है। 
        बैठक में मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर तथा केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारी तथा संबंधित अधिकारी मौजूद थे।  श्रीमती गांधी ने कहा कि उनके मांत्रलय ने बच्चों की सुरक्षा के संबंध में जागरुकता फैलाने के लिए सोशल मीडिया पर एक अभियान शुरु किया है। इसके अलावा जन माध्यमों के जरिए भी इस बारे में प्रचार किया जा रहा है।  उन्होंने बताया कि बैठक का उद्देश्य स्कूली बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए दिशा निर्देश का खाका तैयार करना था जिन्हें स्कूलों पर अनिवार्य रुप से लागू किया जा सके। 
       केंद्रीय मंत्री ने कहा कि माता पिता, अभिभावकों और अध्यापकों को भी बच्चों के व्यवहार के प्रति सचेत रहना चाहिए और संदिग्ध होने पर तुरंत कदम उठाने चाहिए।