मांगे नहीं मानने पर एएमयू के छात्रों ने दोबारा आंदोलन की दी धमकी 

   अलीगढ।  अलीगढ. मुस्लिम विविद्यालय छात्रसंघ के नेताओं ने आज कहा कि वैसे तो उन्होंने अपना आंदोलन समाप्त कर दिया है लेकिन अगर जिला प्रशासन ने उनकी मांगों पर दिये अपने आासनों को जल्द पूरा नहीं किया तो वे दोबारा आंदोलन आरंभ कर सकते हैं।   एएमयू छात्रसंघ के अध्यक्ष मशकूर अहमद उस्मानी ने संवाददाताओं से कहा कि इसे ऐसे नहीं देखना चाहिये कि हमारा आंदोलन खत्म हो गया है। अगर प्रशासन ने अपना वायदा पूरा नहीं किया तो यह दोबारा शुरू कर दिया जायेगा और अगर जरूरत पड़ी तो इसे अखिल भारतीय स्तर पर भी किया जा सकता हैं। 
   उन्होंने कहा कि हमारा आंदोलन शुरू से निहत्थे एएमयू छात्रों पर पुलिस लाठीचार्ज के मामले में न्यायिक जांच की मांग को लेकर था। इसके अलावा हमारी मांग थी कि दो मई को एएमयू में जिन हिन्दू संगठन के कार्यकर्ताओं नेंिहसा की और जिन पुलिसकर्मियों ने छात्रों पर लाठीचार्ज किया, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाये।   एएमयू के आंदोलनकारी छात्रों की भूख हड़ताल खत्म करवाने डेढ साल से लापता जेएनयू छात्र नजीब की मां नफीसा बेगम पहुंची थीं। उन्होंने कहा कि वह इसलिये आईं क्यों?कि इन छात्रों का कर्ज उन पर था। पिछले साल जब वह अपने लापता बेटे को ढूंढने के लिए दिल्ली पुलिस के खिलाफ आंदोलन कर रही थीं तब ये छात्र उनके आंदोलन के समर्थन में खड़े हुये थे।    एएमयू छात्रसंघ के नेताओं ने तीन दिन की भूख हड़ताल और 15 दिन पुराना धरना कल शाम समाप्त किया था।
साभार भाषा