महिला लेक्चरर पर लगे आरोप की जांच अपराध शाखा को सौंपी गई  
 
चेन्नई / अरूपूकोट्टई । अरूपूकोट्टई की देवांगा आर्ट्स कॉलेज की महिला लेक्चरर की कथित तौर पर अपनी छात्राओं को अच्छे अंक और पैसों के लिए ‘‘ कुछ अधिकारियों के साथ तालमेल बिठाने ’’ की सलाह संबंधी मामले की जांच अब तमिलनाडु अपराध शाखा पुलिस को सौंप दी गई है।
  सहायक प्रोफेसर निर्मला देवी को कॉलेज और एक महिला फॉरम की शिकायत के बाद कल गिरफ्तार किया गया था। छात्राओं के साथ महिला प्रोफेसर की एक महीने पहले हुई कथित बातचीत रविवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी।   प्रोफेसर को कॉलेज से पहले ही निलंबित कर दिया गया है।  चेन्नई में एक पुलिस विज्ञप्ति में डीजीपी टी के राजेंद्रन ने इस मामले के महत्व पर विचार करते हुए इसे अरूपूकोट्टई टाउन पुलिस स्टेशन से लेकर सीबी - सीआईडी को हस्तांतरित करने का आदेश दिया है।
    अरूपूकोट्टई की एक रिपोर्ट के मुताबिक प्रोफेसर से एक स्थानीय महिला पुलिस स्टेशन में पूछताछ की गई और उनके पास से तीन मोबाइल फोन जब्त कर लिए गए।    राजस्व मंडल अधिकारी ने भी असिस्टेंट प्रोफेसर के मामले की जांच की है।    वायरल हो रहे ऑडियो में प्रोफेसर को यह कहते हुए सुना जा रहा है कि छात्राएं 85 फीसदी अंक और पैसों के लिए ‘‘ कुछ अधिकारियों के साथ तालमेल बिठाएं ’’ । आरोपी लेक्चरर की इस कथित सलाह को यौन संबंध बनाने के इशारे के तौर पर देखा जा रहा है   हालांकि महिला प्रोफेसर ने इस मामले में यौन पहलू से इंकार करते हुए कहा है कि उन्होंने यह टिप्पणी सही दिशा में की थी न कि किसी छुपे हुए उद्देश्य या एजेंडे के लिए।