आईआईटी रुड़की ने  स्वास्थ्य शिक्षा व शोध के लिए एम्स ऋषिकेश से किया करार

 

रुड़की । भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रुड़की स्वास्थ्य शिक्षा, शोध और सेवा जैसे क्षेत्रों क्षेत्रों में विकास के लिए एआईआईएमएस ऋषिकेश से भागीदारी करेगा। दोनों संस्थानों ने एक सहमति करार पर हस्ताक्षर किए जिसका मकसद दोनों के शिक्षा कार्यक्रमों को परस्पर सहयोग से पेशाजन्य सक्षमता में मजबूती लाना है। करार के तहत खास कर संचार कौशल, नैतिकता, पेशाकुशलता, खुद की देखभाल और खुद के प्रति जागरूकता जैसे क्षेत्रों पर अधिक ध्यान दिया जाएगा।

 इस सहमति करार के परिणामस्वरूप स्वास्थ्य विज्ञान के क्षेत्र में कार्यरत दोनों संस्थानों के शोधार्थियों के बीच परस्पर संपर्क-संवाद बढ़ेगा जिससे इनोवेशन को बढ़ावा मिलेगा। लोगों के इलाज के लिए जांच, उपचार की प्रक्रिया और उपचार के प्रभावीपन को अधिक कारगर बनाया जा सकता है। आईआईटी रुड़की के निदेशक प्रो. अजीत चतुर्वेदी ने 23 मार्च 2018 को एआईआईएमएस ऋषिकेश के निदेशक प्रो. रवि कांत के साथ इस सहमति करार पर हस्ताक्षर किए।

आईआईटी रुड़की के निदेशक प्रो. अजीत चतुर्वेदी ने इस अवसर पर कहा, ‘‘पूरी दुनिया में इंजीनियरिंग और चिकित्सा जगत के बीच हो रहे सहयोग करारों के मद्देनजर आईआईटी रुड़की और एआईआईएमएस ऋषिकेश के बीच यह एक महत्वपूर्ण करार है और इसका पूरे समाज को लाभ होगा। मुझे विश्वास है कि दोनों संस्थान इस साझेदारी का पूरा लाभ लेंगे ताकि वह सब हासिल कर सकें जो अकेले शायद मुमकिन नहीं होता।’’

एआईआईएमएस ऋषिकेश के निदेशक प्रो. रवि कांत ने बताया, ‘‘आईआईटी रुड़की की नैनोटेक्नोलाॅज़ी, बायोटेक्नोलाॅज़ी, और विद्युत विज्ञानों पर एआईआईएमएस ऋषिकेश में शोध की बड़ी संभावना है जो शोध के सिद्धांतों और प्रयोगशाला में निष्कर्षों पर पहंुचने में एक फील्ड लैबरोटरी की अहम् भूमिका निभाएगा। दोनों संस्थानों का साझा उद्देश्य स्वास्थ्यसेवा का खर्च कम करना है।’’

इस सहमति करार का साझा उद्देश्य शैक्षिक प्रोजेक्ट का विकास करना है जैसे कि परस्पर सहयोगी शोध, शिक्षण, तकनीकी सहयोग, मूल्यांकन और प्रकाशन। इसके तहत विभिन्न विषयों में वैज्ञानिक शोध एवं शिक्षा के लिए द्विपक्षीय सहयोग को बढ़ावा दिया जाएगा जैसे कि:

प्रशिक्षण एवं वैज्ञानिक शोधों का आदान-प्रदान

लेक्चर, सेमिनार और वैज्ञानिक गोष्ठियों का आयोजन

साझा अभिरुचि के प्रोजेक्ट का विकास

दोनों संस्थानो के परस्पर लाभ के लिए उनके बीच शिक्षकों और विद्यार्थियों के परस्पर दौरे

शोध संचालन में परस्पर सहयोगा (वित्त नहीं)

स्काॅलर एक्सचेंज़ और शिक्षा सहयोग

 

इसके अतिरिक्त दोनों संस्थान पाठ्यक्रमों, सेमिनारों, कार्यशालाओं और अन्य साधनों से शिक्षा के बेहतर अवसर पैदा करेंगे। विद्यार्थियों के शैक्षिक कार्यक्रमों की गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए संबद्ध संस्थान में उपयोग के अनुकूल प्रोफेसनल कंपिटेंसी करिकुलम का विकास किया जाएगा।

ये संस्थान मेडिकल के छात्रों के दौरों की व्यवस्था भी करेंगे, जो प्रोफेसनल कंपिटेंसीज करिकुलम के संचालन में सहयोग करेंगे और चिकित्सा की चुनिंदा गतिविधियों में भाग लेंगे। इसके अतिरिक्त, प्रोफेसनल कंपिटेंसीज प्रोग्राम के क्रियान्वयन और मूल्यांकन हेतु आवश्यकता पड़ने पर अन्य संबद्ध विधाओं (जैसे ग्लोबल हेल्थ य नर्सिंग) के विद्यार्थियों के दौरों की व्यवस्था की जाएगी।

शिक्षण और शोध कार्य में भाग लेने के प्रति समर्पित स्वास्थ्य विज्ञान के शिक्षकों और अतिथि विद्वानों का आदान-प्रदान भी किया जाएगा। एआईआईएमएस में ऋषिकेश में रोगियों को चिकित्सा सुविधाएं मुहैया कराने हेतु आईआईटी रुड़की के शिक्षकों, छात्रों और कर्मचारियों को प्राथमिकता दी जाएगी।