बलात्कार के आरोपी ट्रस्टी के स्कूल में प्रवेश पर रोक
  
   मुंबई।  बंबई उच्च न्यायालय ने अंधेरी स्थित एक अंतरराष्ट्रीय स्कूल के न्यासीपर  अगले आदेश तक विद्यालय परिसर में प्रवेश करने पर आज रोक लगा दी। दरअसल, इस न्यासी  पर बलात्कार का आरोप है। 
     गौरतलब है कि स्कूलके  कुछ बच्चों के माता पिता ने उच्च न्यायालयमें याचिका दायर की थी जिस  परयह आदेश दिया गया।  न्यासी एक फ्रांसीसी नागरिक है। उसे  तीन वर्षीय एक बच्ची से बलात्कार करने के आरोप में पिछले साल गिरफ्तार किया गया था।   हालांकि,  पिछले साल नवंबर में उसकी जमानतहो गई थी और इसके बाद  वह स्कूल में अपनी ड्यूटी पर आने लगा था।     हालांकि  पीड़िता की मां ने उच्च न्यायालय में एक अपील दायर कर उसकी जमानत रद्द करने का अनुरोध किया है।   स्कूल के42  अन्य बच्चों के माता पिता ने भी उच्च न्यायालय में एक अर्जी देकर इस न्यासी को स्कूल से दूर रहने का निर्देश देने का अनुरोध किया क्योंकि उन्हें अपने बच्चों की सुरक्षा कींिचता है।       न्यायमूर्ति रेवती मोहित देरे ने कहा कि यह एक गंभीर विषय है। मौजूदा आरोपी के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य हैं।      यह घटना पिछले साल मई की है जब पीड़िता के माता पिता ने उसके बर्ताव में बदलाव पाया और  बैठने तथा चलने फिरने मेंउसे हो रही  परेशानी देखी।माता पिता ने जब अपनी बेटी से पूछा कि क्या किसी ने उसे चोट पहुंचाई है या अनुचित तरीके से छुआ है तो उसने स्कूल के न्यासी की तस्वीर की ओर इशारा किया।   मई 2017  में न्यासी के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज की गई थी। हालांकि,   पीड़िता के माता पिता द्वारा पुलिस पर निष्क्रियता बरतने का आरोप लगाते हुये याचिका दायर करने के बाद ही 20 नवंबर, 2017 को आरोपी की गिरफ्तारी हुई थी।