नगर निगम स्कूलों में  प्राथमिक एवं नर्सरी के बच्चों के लिए पाठ्यक्रम का कैलेंडर जारी
 
नई दिल्ली । उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने शुक्रवार को पहली बार अपने स्कूलों में प्राथमिक एवं नर्सरी के बच्चों के लिए सालभर का पाठ्य़क्रम जारी कर दिया। इस पाठ्य़क्रम को लेकर बनी पुस्तक का मेयर प्रीति अग्रवाल ने लोकार्पण किया। 
        उन्होंने दावा किया कि नगर निगम के स्कूलों में पहली बार ऐसा किया गया है। अभी तक स्कूलों के शिक्षक अपने हिसाब से बच्चों को पढ़ाते थे। सिविक सेंटर के केदारनाथ साहनी सभागार में हुए पाठ्य़क्रम हैंडबुक के लोकार्पण के मौके पर निगमायुक्त मधुप व्यास, जय प्रकाश, शिक्षा समिति की पूर्व अध्यक्ष ममता नागपाल, शिक्षा समिति के अध्यक्ष जोगी राम जैन, अतिरिक्त आयुक्त आरएस मीणा, शिक्षा निदेशक हेमंत कुमार समेत अन्य अधिकारी भी अपस्थित थे।नगर निगम के स्कूलों में प्राथमिक एवं नर्सरी क्लास के लगभग 25 हजार बच्चे हैं। पाठ्य़क्रम की यह किताब जारी होने के बाद बच्चों को विधिवत पूर्व निधरारित पाठ्य़क्रम के मुताबिक पढ़ाया जाएगा। इस अवसर पर मेयर प्रीति अग्रवाल ने कहा कि यह पाठ्य़क्रम मासिक कैलेंडर का आधार बना है। इसमें पढ़ाई के साथ-साथ खेल कूद, र्चचा, कविता पाठ आदि भी शामिल किया गया है। अब सभी स्कूलों के अध्यापक इसी के मुताबिक पाठ्य़क्रम पूरा करेंगे। मेयर ने अपने संबोधन में अध्यापकों का महत्व बताते हुए कहा कि बच्चा किसी भी घर में पैदा हो, लेकिन उसके निर्माण में शिक्षक की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। शिक्षक हमेशा शिक्षक ही रहता है। सेवानिवृत होने बाद भी वह बच्चों को पढ़ाना पसंद करता है। निगमायुक्त मधुप व्यास ने इसे एक अच्छी शुरुआत बताते हुए कहा कि इससे बच्चों को बेहतर शिक्षा पण्राली का अनुभव मिलेगा। पूर्व शिक्षा निदेशक श्रीकृष्ण कुमार ने कहा कि उन्हें खुशी है कि शिक्षा की कोशिशों को अंजाम तक ले जाया जा रहा है। इस मौके पर अन्य लोगों ने भी अपने विचार रखे।