अगले सत्र से एक पखवाड़े में संपन्न होंगी यूपी बोर्ड की परीक्षाएं       

    इलाहाबाद।  उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं अगले अकादमिक सत्र में एक ही पखवाड़े में संपन्न कराने की योजना है।           समय से परीक्षाएं पूरी होने पर परिणाम जल्द आ सकेंगे जिससे 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले विद्यार्थियों को स्नातक पाठ्यक्रम में दाखिले के उद्देश्य से तैयारी करने के लिए पर्याप्त समय मिल सकेगा।      
    हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाएं इस साल 6 फरवरी से शुरू होकर 12 मार्च को समाप्त हुईं।  उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के अपर सचिव (प्रशासनिक) शिव लाल ने पीटीआई भाषा को बताया, ’हमने अगले सत्र से 15 दिन में ही परीक्षाएं संपन्न कराने की तैयारी की है। इससे जहां सत्र दुरुस्त होगा, वहीं विद्यार्थियों को रिजल्ट के लिए लंबा इंतजार नहीं करना पड़ेगा।’  उन्होंने बताया, ’बीते दिनों संपन्न हुई 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं के मूल्यांकन 17 मार्च से शुरू कर दिए जाएंगे। पांच करोड़ 80 लाख उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के लिए 1,46,000 लोगों को लगाया गया है। मूल्यांकन के लिए 247 केंद्र बनाए गए हैं। मूल्यांकन में किसी तरह की गड़बड़ी न हो, इसके लिए एलआईयू और एसटीएफ के लोग सक्रिय रहेंगे।’ शिव लाल ने बताया कि इस बार हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की टाप 20 कापियों (उत्तर पुस्तिकाओं) को बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा जिससे कि अन्य विद्यार्थी उन्हें देखकर प्रेरणा ले सकेंगे।  
       गौरतलब है कि शासन की सख्ती की वजह से इस साल रिकार्ड 11,27,815 विद्यार्थियों ने यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाएं बीच में ही छोड़ दीं। वहीं 1146 विद्यार्थी नकल करते हुए पकड़े गए, जबकि 136 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई।    बोर्ड परीक्षा में पूर्ण पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए पहली बार सभी केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में परीक्षाएं कराई गईं। इन केंद्रों पर 8,549 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे। 
साभार भाषा