अनुबंधित शिक्षकों को नियमित किया जाए : शिअद

चंडीगढ़।  शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने आज कांग्रेस सरकार से पार्टी के चुनावी वायदे के मुताबिक अनुबंधित शिक्षकों को नियमित करने की मांग की।
  यहां जारी बयान में पूर्व शिक्षा मंत्री और पार्टी प्रवक्ता डॉ़ दलजीत सिंह चीमा ने कहा कि कांग्रेस न सिर्फ अपने चुनावी वादों से पीछे हट रही है बल्कि नई मनमानीपूर्ण और शिक्षक विरोधी नीतियां लाने की कोशिश कर रही है।
  उन्होंने कहा कि 15000 से अधिक शिक्षकों को स्थायी करने से पहले दस हजार तीन सौ रुपये के मूल वेतन पर तीन साल कार्य कराया जा रहा है। डॉ़ चीमा के अनुसार इनमें सर्व शिक्षा अभियान, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के तहत भर्ती शिक्षक, कंप्यूटर टीचर, लैब अटेंडेंट आदर्श स्कूलों के लिए शिक्षकों तथा ग्रामीण सहयोगी शिक्षकों का समावेश है।
  शिअद नेता के अनुसार इनमें से कई आठ से दस साल की सेवा अनुबंधित कर्मचारियों के रूप में दे चुके हैं लेकिन इन्हें नियमित करने के बजाय सरकार इन्हें दस हजार तीन सौ रुपये के मूल वेतन पर कार्य करने को कह रही है। डॉ़ चीमा ने कहा कि 5178 ग्रामीण सहयोगी शिक्षकों के मामले में, शिक्षक छह हजार रुपये के वेतन पर विभिन्न मुश्किल हालात में तीन साल से काम कर रहे हैं और अब जब उन्हें नियमित करने का समय आया है तो सरकार अपने वायदे से मुकर रही है।
  शिअद नेता के अनुसार इतने लंबे अर्से से समाज की सेवा करने वाले शिक्षकों से वेतन में कटौैती स्वीकारने तथा स्थायी होने के लिए और तीन साल इंतजार करने को कहना अमानवीय है और इन्हें तुरंत प्रभाव से नियमित किया जाना चाहिए।  डॉ़ चीमा ने कहा कि पार्टी शिक्षकों के साथ है और वह यह मुद्दा विधानसभा में उठाएंगे।