गैर सहायता प्राप्त कॉलजों से यूनिवर्सिटी न ले कोई फीस : पीयूसीए

मोहाली।  पंजाब अनएडेड कॉलेजेस एसोसिएशन (पीयूसीए) ने प्रदेश सरकार से अनुरोध किया है कि आईकेजी-पीटीयू, जालंधर, एमआरएस-पीटीयू, बठिंडा समेत सभी विविद्यालयों को निर्देश दिये जाएं कि वह गैर सहायता प्राप्त कॉलेजों से कोई शुल्क/फीस न वसूलें।
     पीयूसीए के आज यहां जारी बयान के अनुसार कॉलेज पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप के बकाया पैसों के लिए दर-दर भटक रहे हैं। पिछले तीन सालों में अनुसूचित छात्रों के 1700 करोड़ रुपये सरकार पर बकाया हैं। पीयूसीए के अनुसार विविद्यालय एफीलिएशन फीस, पंजीकरण फीस, परीक्षा फीस और अन्य छा संबंधित निधि के रूप में कॉलेजों से मोटी रकमें वसूलते हैं पर कॉलज आज खुद गहन वित्तीय संकट से गुजर रहे हैं और विविद्यालयों के बकाया चुका नहीं पा रहे हैं।
     पीयूसीए के अनुसार तीन लाख छात्रों की पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप का भुगतान अभी किया जाना है लेकिन पंजाब टेक्नीकल यूनिवर्सिटी, ब​ठिंडा एवं जालंधर तथा पीएसबीटीईटी कॉलेजों से एफिलिएशन फीस मांग रहे हैं। पीयूसीए ने सवाल उठाया है कि अगर पंजाब सरकार छात्रों से कॉलेजों को फीस नहीं मिलती तो कॉलज यूनिवर्सिटी या बोर्ड को अपनी जेब से कैेसे भुगतान कर सकता है।