एक लाख छात्राओं को पुलिस कामकाज की जानकारी दी जायेगी : चौधरी

    जयपुर। राजस्थान के अपराध रिकार्ड ब्यूरो ने ‘सारथी अभियान’ के तहत प्रदेश के स्कूल एवं कालेज की करीब एक लाख छात्राओं का आत्मविास बढाने के उद्देश्य से पुलिस की कार्यप्राणाली और कामकाज के बारे में जानकारी देने का एक विशेष अभियान शुरू किया है।  
    सारथी फाउंडेशन के निदेशक जयदीप शर्मा ने बताया कि इसकी शुरूआत राष्ट्रीय बालिका दिवस 24 जनवरी से शुरूआत की गई थी और प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में अब तक 25 हजार बालिकाओं को प्रशिक्षित किया जा चुका है। इस अभियान का औपचारिक उद्घाटन महिला दिवस पर 8 मार्च को किया जायेगा।
    पुलिस अपराध रिकार्ड ब्यूरो के पुलिस अधीक्षक पंकज चौधरी ने  बताया कि ‘सारथी अभियान’ के तहत एक लाख बालिकाओं को प्राथमिकी दर्ज कराने की प्रक्रिया, पुलिस मुख्यालय, पुलिस के जिला स्तर के ढांचे, पुलिस वेबसाइट और हेल्पलाइन नम्बरों के बारे में जानकारी दी जायेगी। उन्होंने बताया कि शैक्षणिक संस्थानों में इस संबंध में कार्यशाला और प्रशिक्षण कार्यवम आयोजित किये जायेंगे और ग्रामीण इलाकों के सरकारी संस्थानों में इस पर विशेष ध्यान दिया जायेगा।
     उन्होंने कहा कि कार्यशाला में राजस्थान पुलिस की वेबसाइट का प्रदर्शन के जरिये बडे से बडे अधिकारी से लेकर निचले स्तर के कर्मचारियों के सम्पर्क सूत्र, मोबाइल ऐप्प और राजस्थान पुलिस के डिजिटलीकरण के बारे में जानकारी दी जायेगी।
     उन्होंने बताया कि पुलिस की कार्यपण्राली के बारे में प्रशिक्षण, जरूरत के समय किस व्यक्ति को सूचना दी जानी चाहिए। इस मुहिम के सकारात्मक परिणाम मिल रहे हैं। चौधरी ने बताया कि साईबर अपराधें से दूर रहने की जानकारी विशेषज्ञों द्वारा दी जायेगी। सोशल मीडिया का सुरक्षित उपयोग, आनलाईन बैंकिग के धोखाधडी के बारे में जानकारी दी जायेगी।
     ब्यूरो ने सभी जिलों में कार्यशाला और प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिये ‘सारथी फाउंडेशन’ को इसकी जिम्मेदारी दी है। भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी चौधरी ने बताया कि घरेलू नौकर, किरायेदार, प्राथमिकी की स्थिति का पता लगाने के बारे में पुलिस की ऐसी बहुत सी हेल्पलाइन नम्बर और मोबाइल ऐप्प हैं जिसने सत्यापन प्रक्रिया को आसान बनाया है।