शहीद भगत सिंह महाविद्यालय को राजकीय महाविद्यालय घोषित करना प्रस्तावित नहीं

जयपुर।  राजस्थान की उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी ने कहा कि विधानसभा क्षेत्र रायसिंहनगर के शहीद भगत सिंह महाविद्यालय को राजकीय महाविद्यालय घोषित करना प्रस्तावित नहीं है। 
          श्रीमती माहेरी ने आज विधानसभा में  शून्यकाल में उठाए गए मुद्दे पर कहा कि शहीद भगत सिंह महाविद्यालय रायसिंहनगर को वर्ष 2013 में अन्य 5 एसएफएस एवं 3 पीपीपी मोड में राज्याधीन किया गया था। उन्होंने कहा कि 5 कॉलेजों (रावतभाटा, छिपाबड़ौद, नैनवा, बेगू, सोजत सिटी) एसएफएस एवं तीन कॉलेजों (रायसिंहनगर, श्रीकरणपुर एवं संघरिया) को पीपीपी मोड पर राज्याधीन किए जाने का निर्णय विगत सरकार द्वारा किया गया था।
        उन्होंने कहा कि मंीमण्डल उपसमिति द्वारा विचार कर इन महाविद्यालयों को डिनोटिफाई किया गया एवं रायसिंहनगर महाविद्यालय को 26 सितम्बर, 2014 को डिनोटिफाई कर वहां सरकार द्वारा लगाये गये कार्यवाहक प्राचार्य का स्थानान्तरण कर दिया गया। उन्होंने कहा कि रायसिंहनगर उपखण्ड में 10 निजी महाविद्यालय है, जिसमें दो कन्या महाविद्यालय है।
       उच्च शिक्षा मंी ने कहा कि श्रीविजयनगर उपखण्ड में 6 निजी महाविद्यालय है, जिसमें एक कन्या महाविद्यालय है। श्रीविजयनगर से लगभग 37 किमी की दूरी पर अनूपगढ़ में एक सहशिक्षा का एक राजकीय महाविद्यालय संचालित है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में 141 उपखण्ड मुख्यालयों पर राजकीय महाविद्यालय नहीं हैं। मुख्यमंी ने वर्तमान बजट में 17 उपखंड मुख्यालयों पर राजकीय महाविद्यालय खोले जाने की घोषणा की है। गुणावगुण के आधार पर श्रीविजयनगर उपखण्ड पर महाविद्यालय खोले जाने पर विचार किया जाएगा।