बायोनिक्स के क्षेत्र में छात्र-छात्राओं के लिए अपार संभावनाएं: प्रो. सहगल

झांसी। उत्तर प्रदेश के झांसी स्थित बुन्देलखण्ड विविद्यालय के गांधी सभागार में बायोनिक्स: लर्निंग साइंस फ्राम नेचर तथा विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम में प्रभारी कुलपति प्रो.वी.के.सहगल ने बायोनिक्स के क्षेत्र को छात्र छात्रओं के लिए अपार संभावनाओं वाला बताया।
        बायोमेडिकल संस्थान तथा विद्यावती कॉलेज ऑफ फाम्रेसी के संयुक्त तत्वावधान में कल आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्रो.सहगल ने कहा कि बायोनिक्स एक बिल्कुल ही नया क्षेत्र है,इसमें अनुसंधान एवं विकास की अपार सम्भावनाएं हैं। अत: छात्र-छात्रओं को इस क्षेत्र पर ध्यान देना चाहिये।
       कार्यक्रम में मुख्य अतिथि एवं बीज वक्तव्य देने के लिए केन्द्रीय औषधि अनुसंधान संस्थान, लखनऊ के पूर्व निदेशक डा. प्रदीप कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि बायोनिक्स का उदभव अमेरिका से हुआ, जबकि यह क्षेत्र जर्मनी में विकसित हुआ मगर आज के समय में पडोसी देश चीन इस क्षेत्र में अनुसंधान के क्षेा में वैिक स्तर पर सबसे आगे है।
       इस अवसर पर नव प्रवर्तन केन्द्र के प्रभारी प्रो.एम.एम.सिंह ने आगंतुकों को नवप्रवर्तन केंद्र की सुविधाओं को उपयोग करने के लिए आमांत्रित किया। संगोष्ठी के आयोजन सचिव तथा बायोमेडिकल संस्थान के समन्वयक डा.लवकुश द्विवेदी ने सेमिनार  तथा विषय की प्रासंगिकता को स्पष्ट किया।
       उद्घाटन सत्र के पश्चात अपने बीज वक्तव्य के रूप में डा.प्रदीप कुमार श्रीवास्तव ने बायोनिक्स पर व्याख्यान दिया जिसमें डा.श्रीवास्तव द्वारा प्राकृतिक जीव जन्तुओं की जैविक क्रियाओं एवं उनके उत्परिवर्तन से प्रेरणा लेकर मानव कल्याण में मशीनों के विकास में उनके योगदान के बारे में चर्चा की। उन्होंने वैज्ञानिकों को ली¨वग प्रोसेसेज पर आधारित प्रयोग करने पर बल दिया गया।
      इसके पहले सुबह साढ़े नौ बजे से विज्ञान प्रश्नोत्तरी का प्रारम्भिक चरण प्रारम्भ हुआ। इस प्रारम्भिक चरण में श्रीमती विद्यावती कॉलेज ऑफ फाम्रेसी, एस. आर ग्रुप ऑफ इंस्टीटूशन्स, झांसी, एस.आर.आई. दतिया, एस.आर.आई.आर.ई. झांसी, केंद्रीय विद्यालय-2 झांसी, एवं वि.वि. परिसर के माइक्रोबायोलॉजी विभाग के कुल 140 छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया। 
   पहले राउंड में सभी टीमों का लिखित स्क्रीनिंग टेस्ट लिया गया जिसके आधार पर इनमें से चार प्रतिभागियों का फाइनल में चयन किया गया। विज्ञान प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता के फाइनल राऊंड्स में हुए रोचक मुकाबले में विविद्यालय की माइक्रोबायोलॉजी विभाग की प्रज्ञा ने प्रथम स्थान, एस. आर ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स के एकता कुशवाहा तथा लालू यादव को द्वितीय एवं विद्यावती कॉलेज ऑफ फाम्रेसी के मनीष तथा कुलदीप ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। विभाग के समन्वयक डा. लवकुश द्विवेदी द्वारा क्विज मास्टर की भूमिका निभायी गयी।