सरकार जल्द करेगी 10609 शिक्षकों की भर्ती

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार जल्द ही लोक सेवा आयोग के माध्यम से 10 हजार 609 शिक्षकों की भर्ती करेगी ।
      राज्य विधान परिषद में समाजवादी पार्टी (सपा) सदस्य बासुदेव यादव के समाजवादी अभिनव विद्यालयों की स्थापना के सवाल पर नेता सदन एवं उप मुख्यमंत्री डा0 दिनेश शर्मा ने आज कहा कि मार्च 2017 तक प्रदेश में 18 अभिनव विद्यालयों स्थापित की गई है । इसके अलावा इलाहाबाद मण्डल के चाका विकास खण्ड में स्थापति मॉडल स्कूल दॉदूपुर में सम्बद्धीकरण के आधार पर 11 शिक्षक नियुक्त किए गये हैं। अन्य स्कूलों में भी शिक्षकों की जल्द तैनाती कर दी जायेगी।
       उन्होंने कहा कि शिक्षकों की कमी को देखते हुए सरकार जल्द ही 10 हजार 609 शिक्षकों की भर्ती करेगी । शिक्षकों का चयन लोक सेवा आयोग के माध्यम से लिखित परीक्षा के आधार पर होगा । भर्ती के लिए फरवरी के अंतिम सप्ताह या मार्च में विज्ञापन जारी करा दिया जायेगा । शिक्षकों की चयन प्रकिया मई तक पूरी करा ली जायेगी जिससे अगले शिक्षण सा तक उनकी तैनाती हो सके ।
      निर्दलीय समूह के नेता राज बहादुर सिंह चंदेल के अवकाश प्राप्त शिक्षकों के अवशेष देय के संबंध में पूछ गये प्रश्न के जवाब में श्री शर्मा ने कहा कि सरकार भ्रष्टाचार को लेकर गंभीर है । इस संबंध में शिक्षा विभाग के एक अधिकारी की नौकरी समाप्त कर दी गई जबकि नौ डीआईओएस को निलंबित किया गया । सरकार ने एक रजिस्ट्रार को भी निलंबित  किया है ।
   प्रश्न प्रहर में शिक्षक दल के सुरेश कुमारािपाठी ने इलाहाबाद-झांसी एवं चिाकूट मण्डल में जिलेवार राजकीय गल्र्स इण्टर कालेजों की स्थापना के सवाल पर डा0 शर्मा ने बताया कि इलाहाबाद मण्डल में 11 , फतेहपुर में पांच ,प्रतागढ़ में नौ तथा कौशाम्बी में दो राजकीय बालिका इंटर कॉलेज संचालित हैं । झांसी मण्डल के ललितपुर में तीन, जालौन में चार और झांसी जिले में राजकीय बालिका इंटर कॉलेज संचालित हैं ।  चित्रकूट मण्डल के बांदा में आठ, हमीपुर में छह,महोबा में पांच और चित्रकूट में तीन बालिका इंटर कॉजेल संचालित हैं ।
     डा शर्मा ने कहा कि बालिका शिक्षा के सुदृढ़ीकरण के लिए शैक्षिक सत्र 2017-18 से सभी राजकीय इण्टर कॉलेज (बालक) में सह शिक्षा की व्यवस्था कर दी गई है। दस किलोमीटर की परिधि में राजकीय एवं सहायता प्राप्त इण्टर कॉलेज न होने की दशा में जरुरत के आधार पर राजकीय हाईस्कूल को इण्टर  स्तर तक उच्चीकरण करने का मानक है । वित्तीय संसाधनों की उपलब्धता के आधार पर राजकीय विद्यालयों की स्थापना की जाती है।
    उन्होने बताया कि सरकार 166 दीन दयाल मॉडल स्कूल खोल रही है । इसके साथ ही अल्पसंख्यक बहुल क्षेाों में 42 स्कूल खोले जा रहे हैं । उन्होंने कहा कि प्रदेश में केन्द्रीय विद्यालयों की स्थापना के लिए केन्द्र सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है ।