विवेकानंद फाउंडेशन के कार्यक्रम में छात्रों को जाने के आदेश पर बवाल

जींद।  हरियाणा के जींद में आज स्वामी विवेकानंद के जन्म दिन पर विवेकानंद फाउंडेशन के एक कार्यक्रम में कम भीड़ देखते हुए चौधरी रणबीर सिंह विविद्यालय के छात्र-छात्राओं को जाने के आदेश पर बवाल मच गया और कांग्रेस की छात्र इकाई नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (एनएसयूआई) ने राज्यपाल से अनुरोध किया कि शिक्षण संस्थानों को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)-राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का अड्डा न बनाया जाए। 
    एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष बलराज कंडेला की अगुवाई में सदस्यों ने राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी के नाम ज्ञापन एसडीएम को सौंपकर जींद में भाजपा के कार्यक्रमों में चौधरी रणबीर सिंह विविद्यालय व प्रियदर्शनी इंदिरा गांधी महाविद्यालय के छात्र/छात्रओं को जबरदस्ती मौजूद रहने के फरमान से छात्रों को मुक्ति दिलाने की मांग की है।      
     एनएसयूआई जिलाध्यक्ष ने ज्ञापन के माध्यम से राज्यपाल को बताया कि जींद में भाजपा सरकार का कोई भी कार्यक्रम होता है तो उसने चौधरी रणबीर सिंह विविद्यालय के उपकुलपति और योग विभाग के इंचार्ज वीरेंद्र सिंह के आदेशानुसार सभी छात्र-छात्राओं का कार्यक्रम में जाना निश्चित किया जाता है और जो छात्र-छात्रएं इन कार्यक्रमों में जाते है सिर्फ उन्हीं की हाजिरी लगाई जाती है और जो नहीं जाते उन्हें गैरहाजिर दिखा दिया जाता है। 
   श्री कंडेला ने बताया कि आज सुबह ही विवेकानंद फाउंडेशन का एक कार्यक्रम महिला कॉलेज में आयोजित किया गया था और इस कार्यक्रम में कम भीड़ देख साढ़े दस बजे चौधरी रणबीर सिंह विविद्यालय में योग इंचार्ज ने कक्षा में आकर आदेश दिया कि कार्यक्रम में जाएं ताकि कार्यक्रम में भीड़ दिखाई जा सके।