राज्य सरकार पर लगाये शिक्षकों का तबादला करने का आरोप

रुद्रप्रयाग 25 दिसम्बर।  राजकीय शिक्षक संघ शाखा (राशिसं) रुद्रप्रयाग ने राज्य सरकार पर गुपचुप तरीके से शिक्षकों का तबादले करने का आरोप लगाया है। जो दुर्गम एवं अति दुर्गम शिक्षकों के साथ अन्याय है, इसके लिए शिक्षक संघ को आंदोलन के लिए बाध्य होना पडेगा।
        संघ के जिलाध्यक्ष आनंद जगवाण ने कहा कि जहां सरकार ने विधान सभा सा के दौरान गैरसैंण में शिक्षकों का स्थानान्तरण अधिनियम का प्रस्ताव पास किया, वहीं दूसरी ओर सरकार की ओर से शिक्षकों के गुपचुप ढंग से तबादले किए जा रहे हैं। जो अति दुर्गम एवं दुर्गम क्षेा में लंबे समय से कार्यरत शिक्षकों के साथ अन्याय है।
         उन्होंने कहा कि वरिष्ठ एवं कनिष्ठ शिक्षकों के लम्बित प्रकरण भी कई समय से शासन स्तर पर लंबित पड़ा है। उन्होंने कहा कि शासन की ओर से तदर्थ शिक्षकों को चयन प्रोन्नत वेतनमान तो दिया, वहीं पुन: देहरादून के शिक्षकों का चयन वेतनमान वापस लिया जा रहा है। जो सरासर गलत है। उन्होंने कहा कि यदि शीघ ही अधिनियम के अनुसार स्थानान्तरण प्रक्रिया को अभिलंब शुरू नहीं किया जाता है, तो शिक्षकों को मजबूरन आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ेगा।