छात्रा को पास कराने के बदले घूस मांगने वाला सहायक प्रोफेसर निलंबित 

            इंदौर।  मध्यप्रदेश के इंदौर जिले में सरकारी महाविद्यालय के सहायक प्रोफेसर को आज पद से निलंबित कर दिया गया. आरोप है कि उसने अनुत्तीर्ण छात्रा को पुनर्मूल्यांकन के दौरान पास कराने के बदले उससे 10,000 रपये की रिश्वत मांगी। इसके साथ ही आरोप है कि सहायक प्रोफेसर ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म वॉट्सऐप पर छात्रा से अनुचित मांग की। 
            उच्च शिक्षा विभाग के अतिरिक्त संचालक के एन चतुर्वेदी नेैपीटीआई-भाषौ से बातचीत में पुष्टि की कि इस मामले में सांवेर कस्बे के शासकीय महाविद्यालय के सहायक प्राध्यापक डॉ. संजय प्रसाद को मध्यप्रदेश सिविल सेवा आचरण नियमों के कथित उल्लंघन के कारण पद से निलंबित कर दिया गया है।  उन्होंने बताया कि निलंबन अवधि में प्रसाद का मुख्यालय झाबुआ का शासकीय महाविद्यालय रहेगा। 
           चतुर्वेदी ने बताया कि सांवेर के महाविद्यालय की छात्रा ने हाल ही में की गयी शिकायत में आरोप लगाया था कि सहायक प्रोफेसर ने उसे बी.कॉम. पाठ्यक्र म के द्वितीय वर्ष के एक पर्चे में पुनर्मूल्यांकन के दौरान पास कराने के बदले उससे 10,000 रपये की रित मांगी। आरोप यह भी है कि उसने छात्रा से वॉट्सऐप पर आपत्तिजनक बातचीत करते हुए कहा कि उसे इस काम के बदले रकम देने