शिक्षाकर्मियों के साथ संविलियन को छोड सभी मुद्दों पर सरकार बात करने को तैयार-चन्द्राकर
 
रायपुर। छत्तीसगढ़ में हड़ताली एक लाख 80 हजार शिक्षाकर्मियों की कल रात से शुरू हुई गिरफ्तारी के बीच पंचायत मंत्री अजय चन्द्राकर ने कहा कि शिक्षाकर्मियों के साथ संविलियन को छोड सभी मुद्दों पर सरकार बात करने को तैयार है।
   श्री चन्द्राकर ने रमन सरकार के 14 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में विभागीय उपलब्धियों को बताने के लिए प्रेस कान्फ्रेंस में प्रश्नों के उत्तर में कहा कि शिक्षाकर्मी सरकार के कर्मचारी है इस कारण उनके साथ पूरी सहानभूति है,पर सरकार स्कूलों के बन्द होने से बच्चों के भविष्य के साथ हो रहे खिलवाड़ पर चुप तो नही बैठे रह सकती है।उन्होने कहा कि सरकार की पहली प्राथमिकता स्कूलों के खुलने की है,और इसके लिए हरसंभव प्रयास करेंगी।
  राज्य में कल रात से शिक्षाकर्मियों की गिरफ्तारी के चलते बातचीत के लिए वातावरण को लेकर पूछे जाने पर उन्होने कहा कि ऐसा कुछ नही है। बातचीत अभी भी जारी है।नए अपर मुख्य सचिव पंचायत ने भी उनसे बातचीत की है और संभवत: कल उनके साथ भी शिक्षाकर्मियों के नेताओं से चर्चा हो।उन्होने अन्य दण्डात्मक कदमों के बारे में पूछे जाने पर कहा कि अभी बातचीत जारी है और इसमें जब कोई गतिरोध नही है,तो हमें इसका इंतजार करना चाहिए।
   उन्होने पंचायतों में मोबाइल नेटवर्क के लिए मोबाइल कम्पनियों को 600 करोड़ देने के निर्णय से पंचायतों में विकास कायरें पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में पूछे जाने पर कहा कि बेसिक अद्योसंरचना विकास के लिए धन दिया जाने का निर्णय हुआ है। इससे कोई खरीद नही होगी।इससे वहीं पर काम होगा जहां पर मोबाइल नेटवर्क नही है।