हरियाणा के 100 स्कूलों में शुरू होगी रोजगार शिक्षा

चंडीगढ़। हरियाणा के 100 सरकारी सीनियर सेकंडरी स्कूलों में अगले शैक्षणिक सत्र से एक अंतराष्ट्रीय समझौते के तहत रोजगार शिक्षा की एक प्रायोगिक परियोजना शुरू की जाएगी जिससे विद्यार्थियों को पढ़ाई के साथ साथ रोजगारोन्नमुख शिक्षा भी मिलेगी। 
       राज्य के शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने हरियाणा स्कूल शिक्षा परियोजना परिषद की   एक बैठक के बाद यह जानकारी दी। बैठक में स्वीडिश संस्था एनएसडीसी, कुंस्कापस्कोलन के प्रतिनिधि भी शामिल थे जिसने एक समझौते के तहत राज्य के कम से कम 100 स्कूलों में रोजगार शिक्षा  प्रोजेक्ट शुरू करने की पेशकश की है।  
       श्री शर्मा ने बताया कि राज्य में विद्यार्थियों को स्कूलों में नियमित शिक्षा के अलावा रोजगार शिक्षा मुहैया कराने के प्रयास किये जा रहे हैं। परियोजना के तहत रिटेल, सूचना प्रौद्योगिकी, ब्यूटी एवं वैलनेस आदि का प्रशिक्षण दिया जाएगा।  इस  परियोजना पर लगभग साढ़े नौ करोड़ रुपये खर्च किये जाएंगे जिसमें  भारत में कार्यरत स्वीडिश कम्पनियां सामाजिक दायित्व कोष के तहत तीन करोड़ रुपये और राज्य स्कूल शिक्षा विभाग  तीन करोड़ रुपये का योगदान करेगा।  
       स्कूल शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव के. के. खंडेलवाल ने बताया कि कौशल विकास कार्यक्रमों के प्रभावी संचालन के लिये स्कूलों में अध्यापकों को प्रशिक्षित किया जाएगा।