आंदोलनकारी छात्रों के साथ बातचीत को तैयार है एसआरएफटीआई


      कोलकाता।  सत्यजीत रॉय फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट की निदेशक देबमित्रा मित्रा का कहना है कि संस्थान के नाराज चल रहे विद्यार्थियों से सभी मुद्दों पर बातचीत के लिए तैयार है लेकिन महिलाओं के लिए पृथक छात्रावास के अपने फैसले पर वह अड़िग है।
      एसआरएफटीआई की निदेशक ने पीटीआई से कहा कि विद्यार्थियों को आठ दिन से चल रहा अपना विरोध प्रदर्शन वापस लेना होगा और संस्थान को काम करने देना होगा। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को अर्थपूर्ण वार्ता की मंशा दिखानी होगी।
      उन्होंने कह कि  हम अपने विद्यार्थियों के खिलाफ पुलिस बुलाने जैसे कठोर कदम उठाने के पक्ष में नहीं हैं। हम उनकी ओर से उठाए गए 27 बिन्दूओं पर बात कर सकते हैं। लेकिन लड़कियों को नये छात्रावास में भेजने के फैसले पर कोई बातचीत नहीं होगी।  
      यह पूछने पर कि क्या नये छात्रावास में जाने से मना करने पर निलंबित 14 छात्राओं का निलंबन समाप्त होगा, मित्रा ने कहा कि छात्र संघ को पहले पृथक छात्रावास के फैसले को वापस लेने की मांग छोड़नी होगी और संस्थान में कामकाज चलने देना होगा।
      उन्होंने कहा कि मेरे आवास पर कल शाम हुई संकाय सदस्यों की बैठक में हमने जितनी जल्दी संभव हो शिक्षण और प्रशासनिक कार्य शुरू करने का फैसला लिया। हम विरोध कर रहे विद्यार्थियों से सहयोग करने को कह रहे हैं।