एसआरएफटीआई छात्रों का आंदोलन जारी

      कोलकाता।  सत्यजीत रे फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान (एसआरएफटीआई) में छात्रों का आंदोलन आज लगातार सातवें दिन भी जारी रहा, जबकि संस्थान की निदेशक ने आरोप लगाया कि आंदोलनरत छात्रों के एक वर्ग ने उन्हें परिसर में घुसने नहीं दिया।

      ये छात्र छात्रावास अलग करने के मुद्दे को लेकर 14 छात्राओं का निष्कासन रद्द करने की मांग कर रहे हैं।  एसआरएफटीआई की निदेशक देबमित्रा ने पीटीआई-भाषा को बताया कि छात्रों ने हमें परिसर के अंदर नहीं आने दिया। इन सभी की दो मांगें हैं कि 14 छात्राओं का निष्कासन और लड़कियों के लिये छात्रावास अलग करने का मामला रद्द किया जाये। पुराने छात्रावास को खाली करने और नये छात्रावास में जाने से इनकार करने के कारण एसआरएफटीआई से 14 छात्राओं को निष्कासित कर दिया गया था जिसके चलते इस प्रतिष्ठित संस्थान के परिसर में 17 अक्तूबर को विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ था।

      मित्रा ने बताया कि मांगों की सूची शुक्रवार को जमा की गयी थी, जिनमें सुविधाएं बढ़ाने और फिल्म परियोजनाओं के लिये बजट बढ़ाने जैसे कई अन्य मुद्दों का उल्लेख है, जिन पर चर्चा के लिये संस्थान के अधिकारी तैयार हैं। मित्रा ने कहा कि लेकिन आज उन्होंने हमें घुसने नहीं दिया। इसलिए हमें अपने अगले कदम के बारे चर्चा करनी ही होगी।  

      अधिकारियों के इन दावों को खारिज करते हुए छात्रों की संस्था के प्रवक्ता ने कहा कि  हमने मंगलवार से प्रशासनिक इमारत को बाधित किया है लेकिन हमने संकाय के किसी व्यक्ति को परिसर आने से नहीं रोका। निदेशक खुद ही आज सुबह वहां से चली गयी थीं।