नई शिक्षा नीति से देश की शिक्षा व्यवस्था में आएगा सकारात्मक बदलाव- मिश्र

जयपुर :  राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा है कि नई शिक्षा नीति-2020 अत्यंत दूरदर्शी तरीके से सोच विचार कर लायी गई है जिससे देश की शिक्षा व्यवस्था में सकारात्मक बदलाव आएगा। 

   श्री मिश्र ने आज वर्धमान महावीर खुला विविद्यालय, कोटा के वचरुअल दीक्षांत समारोह में सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति में दूरस्थ शिक्षा को बढ़ावा देते हुए कौशल विकास, वित्तीय साक्षरता, डिजिटल साक्षरता सहित विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास पर फोकस किया गया है।

     उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी विविद्यालय नई शिक्षा नीति को समयबद्ध रूप से लागू करने के लिए कार्ययोजना तैयार करें। उन्होंने इस बात पर संतोष व्यक्त किया कि विविद्यालयों में उनके सुझाव पर उच्चस्तरीय समितियां गठित कर इस नीति को लागू करने की दिशा में प्रयास शुरू कर दिये गए हैं।

श्री मिश्र ने कहा कि विविद्यालयों में कृषि आधारित तकनीक से जुड़े पाठ्यक्रम शुरू किये जाने चाहिए, जिससे कृषि अर्थव्यवस्था में सुधार हो और किसान आर्थिक रूप से सक्षम तथा खुशहाल बनें। उन्होंने कहा कि किसान, मजदूर, आदिवासी, दिव्यांग तथा समाज के वंचित वगरें को शिक्षित कर सशक्त बनाने में दूरस्थ शिक्षा को विशेष भूमिका निभानी चाहिए। 

     श्री मिश्र ने सुझाव दिया कि वर्धमान महावीर खुला विविद्यालय के अध्ययन केन्द्रों पर विद्यार्थी समस्या समाधान दिवस आयोजित किये जाने चाहिए ताकि विभिन्न पाठ्यक्रमों में अध्ययन कर रहे दूर-दराज क्षेा के विद्यार्थियों की समस्याओं का त्वरित निराकरण कर उन्हें राहत प्रदान की जा सके।