"यूँ ही साथ साथ चलते" का लोकार्पण

 

नई दिल्ली। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केन्द्र के सदस्य सचिव डा.सच्चिदानंद जोशी तथा उनकी धर्मपत्नी श्रीमती मालविका जोशी के साझा कविता संग्रह "यूँ ही साथ साथ चलते" का लोकार्पण बीती शाम एक भव्य समारोह में संपन्न हुआ। इस दौरान विभिन्न वक्ताओं ने डा. जोशी की लेखन विधा की सराहना करते हुए यूं ही साथ साथ चलते को जोशी दम्पत्ति की उत्कृष्ट कृति बताया।
            इंडिया इंटरनेशनल सेन्टर दिल्ली में आयोजित गरिमामय समारोह में प्रख्यात नृत्य गुरु डॉ सोनल मानसिंह,आईजीएनसीए के अध्यक्ष व प्रख्यात पत्रकार रामबहादुर राय, साहित्य मर्मज्ञ लक्ष्मीशंकर वाजपेयी, और विदुषी कवियत्री अनामिका मुख्य अतिथि रहे। डा.जोशी की माता जी श्रीमती मालती जोशी भी उपस्थित थी। सानिध्य प्रकाशन की ओर से प्रकाशित इस पुस्तक को डा.जोशी व उनकी पत्नी मा​लविका जोशी ने अपनी शादी की 31वीं वर्षगांठ पर प्रकाशित किया है और इस पुस्तक में दोनों की 31—31 रचनाएं प्रकाशित की गई है।  
         कार्यक्रम मेंबाबा योगेंद्र,श्री अच्युतानंद मिश्र, राममोहन पाठक, राहुल देव, के जी सुरेश, साधना राउत, पंकज मित्तल, अद्वैत गणनायक, रश्मि सिंह, किरण सोनी गुप्ता, नवीन अग्रवाल, कुमुद शर्मा, ओम निश्चल जी, अशोक ओगरा,अनिल अग्निहोत्री, चंद्रशेखर दिघे आदि विभुतियों सहित साहित्य, कला और पत्रकारिता जगत की कई जानी मानी हस्तियां उपस्थित थी। कार्यक्रम का संचालन श्रुति नागपाल ने किया और दुष्यंत ने सभी का आभार व्यक्त किया।