वन्यजीव संरक्षण पर केंद्रित होगा कुमाऊं साहित्योत्सव

           नयी दिल्ली। हिमाचल की तलहटी में नैनीताल और कॉर्बेट से घिरे इलाके में आयोजित होने वाला  कुमाऊं साहित्य एवं कला महोत्सव  इस वर्ष वन्यजीव संरक्षण और लंबे समय तक कायम रह सकने वाली जीवनशैली पर केंद्रित होगा।
            दो दिवसीय महोत्सव कल से शुरू होगा। इसमें संरक्षण समर्थक एमके रंजीतसिंह, लेखक एवं फिल्म निर्माता जानकी लेनिन और लेखक तथा संरक्षणकर्ता प्रेरणा बिंद्रा जैसे वक्ताओं को सुना जा सकेगा।
           जयपुर स्थित साहित्य संबंधी सलाहकार संस्था सियाही द्वारा आयोजित  किए जाने वाले इस महोत्सव की शुरआत नैनीताल के अबोट्सफोर्ड हैरिटेज होटल से होगी, फिर आठ अक्तूबर को यह कॉर्बेट में दी गेटवे रिजॉर्ट में आयोजित होगा।
           इस महोत्सव के परामर्शदाता हैं लेखिका नमिता गोखले और ऋषि सूरी।