विशेष बच्चों के विद्यालयों को ऋण देगी गोवा सरकार 
 
      पणजी। गोवा सरकार ने आज अपनी प्रमुख योजना के फायदों का विस्तार करने का फैसला किया है जिसके तहत विशेष बच्चों को शिक्षा प्रदान करने वाले संस्थानों और स्कूलों को उनके आधारभूत ढांचे को विकसित करने के लिए ऋण दिया जाएगा। 
                मुख्यमंत्री मनोहर पारिकर ने बताया कि आज मंत्रिमंडलीय बैठक के दौरान विशेष बच्चों को शिक्षा उपलब्ध कराने वाले स्कूलों को भी इस योजना में  शामिल करने का फैसला  लिया गया। 
      ऋण देकर, आधारभूत संरचना के निर्माण में स्कूलों की मदद करने की योजना वर्ष 2015 में लाई गई थी जिसके तहत संस्थानों को एक से दो करोड़ रपये का अनुदान दिया जाता है। 
                       पारिकर ने कहा,  लेकिन दुर्भाग्यवश, उस वक्त विशेष बच्चों को शिक्षा प्रदान करने वाले स्कूल, पात्रता के मापदंड से बाहर छूट गए थे। उन्होंने कहा कि 22 ऐसे स्कूल हैं जो विशेष बच्चों के लिए काम कर रहे हैं जो अब योजना का लाभ ले पाने में सक्षम होंगे।  मुख्यमंत्री ने कहा कि  गोवा मंत्रिमंडल ने इस योजना को विशेष बच्चों के लिए काम कर रहे स्कूलों तक बढ़ाने का फैसला लिया है। सामान्य श्रेणी में स्कूलों (केवल विशेष बाल विद्यालयों को छोड़कर) के किसी भी नए आवेदन पर विचार नहीं किया जाएगा। राज्य सरकार, विशेष बच्चों की जरूरतों पर सलाह देने वाले साझेदारों के साथ विचार-विमर्श करने के बाद अगले महीने इस योजना में बदलाव लाएगी।
                      योजना के तहत उपलब्ध करायी जाने वाली ऋण राशि को आधारभूत ढांचे में बदलाव करने या निर्माण करने जैसे स्कूल, खेल के मैदान, शौचालय, छात्रावास की इमारत का निर्माण या मरम्मत या ऐसे दूसरे कायरे के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।