भारत की शिक्षा व तकनीक को विश्व के शिखर पर ले जायेंगे : निशंक
  •  मार्गदर्शन व मार्गदर्शक योजना तथा 360 डिग्री फीडबैंक प्राणाली   लांच 
 
नई दिल्ली. केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखिरयाल ने कहा है कि हम भारत की शिक्षा व तकनीक को दुनिया भर में शिखर पर ले जाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि शिखर तक पहुंचने के जो रास्ते हैं उन्हें मजबूत बनाया जा रहा है।
   केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने आज एक कार्यक्रम में अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद द्वारा शुरु की गई मार्गदर्शन व मार्गदर्शक योजना तथा 360 डिग्री फीडबैंक प्राणाली को लांच करने के साि साथ डिप्लोमा के लिये मॉडल पाठयक्रम को लांच किया।  इस दौरान अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि हमें विश्व रैंकिंग में शीर्ष पर रहने की जरूरत है और दुनिया भर में अपनी तकनीकी शिक्षा को शीर्ष पर ले जाने के लिए इस तरह की पहल के माध्यम से आसान बना दिया गया है। इस प्रतिस्पर्धी युग में बेहतर समझ के लिए छात्रों को तैयार करने के लिए नए पाठ्यक्रम बनाना आवश्यक है और डिप्लोमा पाठ्यक्रम के लिए मॉडल पाठ्यक्रम इस दिशा में एक प्रयास है।
उन्होंने कहा कि मार्गदशर्न और मार्गदशर्क कार्यक्रमों के माध्यम से शुरु की गई योजनाएं  बहुत अच्छी पहल है। मार्गदर्शन योजना के तहत 40 शीर्ष संस्थान अपने आसपास के 10-10 संस्थानों का मार्गदर्शन करेंगे तथा उनकी गुणवत्ता में सुधार में सहायता करेंगे ताकि वह भी अपनी रेकिंग सुधार सकें। उन्होंने कहा कि मार्गदर्शक योजना के तहत सेवानिवृत हो चुके शिक्षक विभिन्न संस्थानों को बेहतर बनाने के लिये मार्गदर्शक के रूप में कार्य कर सकेंगे।  उन्होंने बताया कि परिषद द्वारा शुरु की गई 360 डिग्री फीडबैंक योजना में छात्र अपने संस्थान के शिक्षकों के बारे में अपनी राय व्यक्त कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि छात्रों की राय की इस प्राणाली से छात्रों के साथ साथ शिक्षक भी अच्छा प्रदर्शन करने के लिये प्रोत्साहित होंगे। उन्होनें कहा कि यह सभी योजनाएं शिक्षा में सुधार के लिये शुरु की गई हैं और यह योजनाएं न्यू इंडिया बनाने में योगदान देंगी।