बच्चों को बुद्धिमान के साथ चरित्रवान बनाना भी जरूरी : महाजन

             रायपुर, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा है कि शिक्षक के हाथों में ही देश का भविष्य होता है और बच्चों को बुद्धिमान के साथ चरित्रवान बनाना भी जरूरी है।

            सुमित्रा ने आज बेमेतरा जिला मुख्यालय में आयोजित  शिक्षक सम्मान समारोह  में कहा कि शिक्षक बनना आसान नहीं है। बच्चों के भीतर शिक्षा एवं संस्कार का बीज बोना चुनौतीपूर्ण कार्य है। शिक्षक अपने ज्ञान और शिक्षण कौशल से बच्चों पर इतना गहरा प्रभाव डालते है कि उनकी कही गई बातों पर ही बच्चे विास करते हैं। इसलिए शिक्षकों की जिम्मेदारी और बढ़ जाती है। शिक्षक के हाथों में ही देश का भविष्य होता है। बच्चों को बुद्धिमान बनाने के साथ चरित्रवान बनाना भी जरूरी है।

           उन्होंने शिक्षकों से कहा कि बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देकर उनकी सीखने की क्षमता का विकास करना चाहिए। उन्होंने बच्चों को पढ़ाई के साथ खेलकूद पर भी ध्यान देने के लिए कहा।

          बतौर मुख्य अतिथि लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि बेमेतरा में पिछले 32 वर्षो से सामाजिक भागीदारी से आयोजित शिक्षक सम्मान समारोह पूरे देश के लिए अनुकरणीय है।

         उन्होंने कहा कि समाज में शिक्षकों के योगदान को स्मरण करते हुए सेवानिवृत्ति पर उनका सम्मान किया जाना आवश्यक है। शिक्षक कभी सेवानिवृत्त नहीं होता है, वह शिक्षण कार्य से मुक्त होने के बाद भी समाज को दिशा देने का कार्य करता है।

        शिक्षकों के सम्मान के लिए सभी राजनैतिक दल, सामाजिक संगठनों और शैक्षणिक संस्थाओं की एकजुटता और आयोजन में भागीदारी सराहनीय है।

        लोकसभा अध्यक्ष महाजन और मुख्यमंत्री रमन सिंह ने इस अवसर पर बेमेतरा जिले के 26 सेवानिवृत्त शिक्षकों, 20 प्रतिभावान विद्यार्थियों, दो दिव्यांग बच्चों एवं राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार प्राप्त एक छात्र को सम्मानित किया।

        मुख्यमंत्री सिंह ने इस अवसर पर शिक्षकों और छात्र-छात्राओं को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि बेमेतरा का शिक्षक सम्मान समारोह अनूठा है। यहां के लोगों में शिक्षा के प्रति लगाव और शिक्षकों को सम्मान देने का संस्कार है। 

       सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के बाद बेमेतरा का तेजी से विकास हुआ है। बेमेतरा को जिला बनाने के बाद विकास के कायरे में और गतिशीलता बढ़ी है।

       मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के लिए 50 हजार स्कूलों में 54 लाख बच्चों के लिए 2 लाख 44 हजार शिक्षकों की व्यवस्था की गई है।

       लोकसभा अध्यक्ष ने जिला मुख्यालय बेमेतरा में लगभग 31 करोड़ 52 लाख रूपए के नौ निर्माण कायरे का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास भी किया।

       कार्यक्र म में विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल, स्कूल शिक्षा और आदिम जाति विकास मंत्री केदार कश्यप, सहकारिता, पर्यटन और संस्कृति मंत्री दयालदास बघेल, विधायक अवधेश चंदेल तथा अन्य अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।