पांच लोगों को वर्ष 2019 का ‘विजिटर पुरस्कार’ दिया जायेगा

नयी दिल्ली । जवाहर लाल नेहरू विविद्यालय की डॉक्टर प्रतिमा और प्रोफेसर संजय पुरी समेत पांच लोगों को उच्च शिक्षा के क्षेा में शोध एवं अनुसंधान कार्यक्रम के लिए वर्ष 2019 के लिए विजिटर पुरस्कार दिया जायेगा। 
      राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद इन शिक्षकों को यहां राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक समारोह में ये पुरस्कार प्रदान करेंगे। राष्ट्रपति भवन द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार जवाहरलाल नेहरू नैनो साइंस विशेष केन्द्र की डॉ. प्रतिमा को आरंभिक चरण में कैंसर का पता लगाने के लिए किये गए शोध कार्य के वास्ते यह पुरस्कार प्रदान किया जाएगा जबकि इसी विविद्यालय के भौतिक सांइस स्कूल के प्रो. पुरी को सांख्यिकीय भौतिकी के क्षेत्र में शोध कार्य के लिए यह पुरस्कार दिया जाएगा। यह पुरस्कार डॉ. प्रतिमा को संयुक्त रूप से दिया जाएगा। उनके साथ अलीगढ़ मुस्लिम विविद्यालय के प्रो. असदउल्ला खां को जैविक विज्ञान के शोध में कार्य के लिए दिया जाएगा। प्रो. खां को जीवाणु की प्रतिरोधक क्षमता के बारे में शोध कार्य पर दिया जाएगा। 
        मानविकी कला एवं समाज विज्ञान के लिए विजिटर पुरस्कार पुड्डुचेरी विविद्यालय में प्रो. शिवनाथ देव को दिया जाएगा जो विशेष मनोविज्ञान विभाग में कार्यरत हैं। उन्हें यह पुरस्कार छात्रों के मानसिक स्वास्थ्य एवं बाल यौन अपराध  में शोध के लिए दिया जाएगा। त्रिपुरा विश्वविद्यालय की एस. राय चौधरी को डेयरी के अपशिष्ट जल को जैव उर्वरक में तबदील करने के लिए बायो फिल्म रिएक्टर बनाने में सफलता के लिए यह पुरस्कार दिया जाएगा। 
इन शिक्षकों और वैज्ञानिकों का चयन श्री कोविंद के सचिव श्री संजय कोठारी के अध्यक्षता में एक निर्णायक समिति ने किया है और इसके लिए देश भर के केन्द्रीय विविद्यालयों के शिक्षकों से ऑनलाइन आवेदन मांगे गये थे। विजिटर पुरस्कार की स्थापन 2014 में की गयी थी ताकि शिक्षा के क्षेा में शोध कायरें को बढ़ावा दिया जा सके।