कांग्रेस ने की सीबीआई जांच, रेयान इंटरनेशनल  के खिलाफ कार्रवाई की मांग

         नयी दिल्ली, कांग्रेस ने गुडगांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में सात वर्षीय एक छात्र की हत्या को लेकर स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कार्वाई के मामले में राज्य की मनोहरलाल खट्टर सरकार पर   ढुलमुल रवैया   अपनाने का आरोप लगाते हुए मामले की सीबीआई से जांच कराने तथा सुरक्षा दिशानिर्देशों का पालन करने में विफल रहने पर आपराधिक मामला दर्ज कर कार्वाई करने की आज मांग की।

        पार्टी ने सात वर्षीय छात्र प्रद्युमन्न की हत्या की सीबीआई जांच कराने की मांग कर रहे अभिभावकों और कुछ पत्रकारों पर कल पुलिस द्वारा लाठियां बरसाये जाने की घोर भर्त्सना करते हुए  कहा कि इससे पता चलता है कि बच्चों की सुरक्षा को लेकर भाजपा सरकार कितनी संवेदनशील है।

       कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आज संवाददाताओं से कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने प्रद्युमन्न के पिता से कहा है कि सीबीआई जांच सहित उनकी किसी भी मांग को पूरा करने में कोई आपत्ति नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार आखिर अभी तक मामले की जांच सीबीआई से कराने की अभिभावकों की मांग को क्यों नहीं मान रही थी। इसी मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे अभिभावकों पर लाठीचार्ज क्यों करवाया गया। मुख्यमंत्री खट्टर यदि सीबीआई जांच की मांग पहले ही मान लेते तो यह नौबत न आती।

      वर्ष 2014 में गुडगांव पुलिस ने जिले के सभी सरकारी एवं निजी स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा के लिए एक दिशानिर्देश तैयार किया था। यह दिशानिर्देश पुलिस ने अभिभावकों के एसोसिएशन, न्याय क्षेत्र से जुड़े लोगों, मीडियाकर्मियों को विचार विमर्श कर बनाये गये थे।  उन्होंने कहा कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल में इस दिशानिर्देश के कई प्रावधानों का खुलेआम उल्लंघन किया जा रहा था। स्कूल के डाइवरों एवं कई स्टाफ के पास पहचानपत्र नहीं था। स्कूल में सभी जगहों पर सीसीटीवी नहीं लगे थे। सभी सीसीटीवी का पैनल रिस्पेशन पर होना चाहिए किन्तु इस मामले में ऐसा नहीं था।

      सुरजेवाला ने कहा कि रेयान इंटरेशनल स्कूल के प्रबंधन में भाजपा महिला मोर्चा की एक पदाधिकारी हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा की भाजपा सरकार ने अभी तक इस स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई में बहुत ढुलमुल रवैया अपना रखा है।  उन्होंने कहा कि मीडिया की खबरों में यह बात सामने आयी है कि रेयान स्कूल की एक चारदिवारी टूटी हुई थी और वहां कुछ शराब बोतलें मिली थीं। उन्होंने कहा कि सुरक्षा दिशानिर्देशों के खुले उल्लंघन के लिए स्कूल की प्रधानाध्यापिका, स्कूल के प्रबंधन, निदेशकों के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कड़ी कार्वाई होनी चाहिए।

      कांग्रेस नेता ने कहा कि बच्चों की सुरक्षा के मामले में भाजपा की केवल हरियाणा सरकार ही नहीं अन्य सरकारें भी घोर लापरवाही बरत रही है और असंवेदनशील रवैया अपना रही हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में बच्चों की मौत, झारखंड में एक बच्ची के साथ 12 लोगों द्वारा दुष्कर्म जैसी तमाम घटनाएं सामने आ रही हैं। इन मामले में राज्य की भाजपा सरकारों का असंवेदनशील रवैया रहा है और अहंकार उनके सिर चढ़कर बोल रहा है।

      उन्होंने कहा कि गुड़गांव पुलिस ने स्कूलों की सुरक्षा के लिए जो दिशानिर्देश बनाये हैं, उन्हें पूरे देश के स्कूलों में लागू करना चाहिए। इसके अलावा प्रांतीय सरकार और केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) को रेयान स्कूल के खिलाफ ऐसी कार्रवाई करनी चाहिए जो अपने आप में एक मिसाल बन सके।