दिल्ली में​ चल रहा है फर्जी उच्चतर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड
 
  • मानव संसाधन मंत्रालय ने आम जनता को किया आगाह
 
नई दिल्ली । राजधानी में केन्द्र व प्रदेश सरकार की नाक के नीचे एक फर्जी उच्चतर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड चल रहा है। यह बोर्ड मानव संसाधन मंत्रालय से मान्यता हासिल होने का दावा भी करता है। मानव संसाधन मंत्रालय ने बोर्ड के दावे को खारिज करते हुए बोर्ड को फर्जी व नकली बताया है तथा आम जनता को इस बोर्ड से सावधान रहने के लिये आगाह किया है। 
देश भर में अनेक  फर्जी शिक्षा बोर्ड या फर्जी विविद्यालय आम जनता के साथ धोखाधड़ी व आर्थिक शोषण करते रहे हैं। हॉल ही में यूजीसी ने भी फर्जी विविद्यालयों की एक सूची जारी की है। शिक्षा के क्षेत्र में फर्जी बोर्ड बनाकर छात्र छात्राओं व अभिभावकों के साथ धोखाधड़ी करने वालों के हौसले इतने बुलंद हैं कि राजधानी दिल्ली में केन्द्र सरकार व दिल्ली सरकार की नाक के नीचे एक संगठन उच्चतर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड दिल्ली के नाम से चल रहा है और यह बोर्ड मानव संसाधन मंत्रालय से मान्यता प्राप्त होने का दावा भी करता है। 
यह उच्चतर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड दिल्ली मानव संसाधन मंत्रालय के 29 जून 2009 के पत्र संख्या  1812/2009-एसकेटी- और दिनांक 26 अप्रैल, 2013 के अ.शा.पत्र सं.3-5/2013-स्कूड 111- के माध्यम से मानव संसाधन मंत्रालय द्वारा एक मान्यता प्राप्तच शिक्षा बोर्ड होने का दावा कर रहा है। मंत्रालय ने इस बोर्ड के दावे को झूठा बताते हुए बोर्ड को नकली बताया है।  मंत्रालय के अनुसार बोर्ड की ओर से जो मान्यता संबधी पत्र बताये जा रहे हैं उनकी  जांच करने पर यह पाया गया है कि इस मंत्रालय द्वारा तथाकथित उच्चतर माध्य मिक शिक्षा बोर्ड, दिल्लीर के पक्ष में ऐसे कोई पत्र जारी नहीं किए गए हैं। मंत्रालय के अनुसार वह  दोनों पत्र नकली और जाली हैं। मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि  उक्त कथित संगठन उच्चतर माध्य्मिक शिक्षा बोर्ड, दिल्ली  को मान्याता देने के संबंध में कोई पत्र मंत्रालय की ओर  से कभी जारी नहीं किया गया है। 
मंत्रालय के अनुसार शिक्षा निदेशालय दिल्ली प्रशासन ने 30 जून 1962 को    संकल्पत एफ. 32(10)/62-शिक्षा जारी कर उच्चतर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड दिल्ली को विघटित कर दिया था और उक्त आदेश से यह बोर्ड 1 जुलाई 1962 को विघटत हो गया था। मानव संसाधन मंत्रालय ने आम जनता को उक्त बोर्ड के प्रति आगाह करते हुए कहा है कि  यदि उक्त उच्चतर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अपनी मान्यता को लेकर कोई दस्तावेज प्रस्तुत करता है तो उसकी सत्यता की पुष्टि मंत्रालय से कराई जाये।