‘ओपन डे’ पर कट-ऑफ को लेकर भ्रम की स्थिति बनी 

 

 नयी दिल्ली। दिल्ली विविद्यालय के राजधानी कॉलेज में आयोजित ‘ओपन डे’ के दौरान शुक्रवार को छात्रों के बीच भ्रम की स्थिति पैदा हो गयी क्योंकि एक प्राध्यापक ने घोषणा की कि आर्थिक रूप से कमजोर तबकों (ईडब्ल्यूएस) के उम्मीदवारों के लिए अलग कट-ऑफ नहीं होगा।

 प्राध्यापक की टिप्पणी के कुछ दिनों पहले ही विश्वविद्यालय ने कहा था कि श्रेणी के लिए अलग-अलग कट-ऑफ होंगे। विश्वविद्यलय ने इस साल ईडब्ल्यूएस के लिए सीटों में 10 प्रतिशत की वृद्धि हुई है और यह कहा है कि करीब 6,000 सीटों की वृद्धि होगी और स्नातक पाठ्यक्रमों के लिए सीटों की कुल संख्या बढकर 62,000 तक हो जाएगी। 

जिस दिन नामांकन की घोषणा की गयी थी, राजीव गुप्ता (डीन, छात्र कल्याण) ने कहा था कि श्रेणी के लिए अलग कट-ऑफ होंगे। हालांकि, शुक्रवार को राजधानी कॉलेज में आयोजित ‘ओपन डे’ पर किरोड़ीमल कॉलेज की प्राध्यापक डॉ संगीता डी गद्रे ने कहा कि ईडब्ल्यूएस छात्रों के लिए अलग कट-ऑफ नहीं होंगे और उन छात्रों के लिए पात्रता अनारक्षित श्रेणी के छात्रों की तरह ही होगी।