डीयू : 157 शोध पाठ्यक्रमों में दाखिले का रास्ता साफ
 
डीयू रिसर्च काउंसिल की मीटिंग में ध्वनिमत से हुआ ये फैसला
 
नई दिल्ली । दिल्ली यूनिर्वसटिी (डीयू) से संबद्ध 51 विभागों के 157 पाठ्यक्रमों में एमफिल व पीएचडी दाखिले का रास्ता साफ हो गया है। डीयू रिसर्च काउंसिल की मीटिंग में ध्वनिमत से ये फैसला लिया गया कि ओबीसी, विकलांग व एससी,एसटी के छात्रों को दाखिले में छूट की सीमा पांच प्रतिशत ही रखी जाए। मीटिंग में इस बात पर भी सहमति बनी की अगर तय कटऑफ में विशेष वर्ग के छात्र दाखिला नहीं ले पाते हैं तो विभाग की शोध समिति को ये अधिकार है कि तय कटआफ विभागाध्यक्ष द्वारा कम या ज्यादा किया जा सकता है। इससे पहले डीयू में शोध पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिये एससी, एसटी, ओबीसी व विकलांग कोटे के उम्मीदवारों को छूट न दिये जाने के खिलाफ हुये विरोध के चलते विभागों ने एमफिल एवं पीएचडी के इंटरव्यू पर पूरी तरह से रोक लगा दी थी। 16 कॉलेजों में शुरू होंगे नए पाठ्यक्रम दिल्ली विविद्यालय में आगामी शैक्षणिक सत्र से दाखिले के विकल्प बढ़ेंगे। विवि के 16 कॉलेजों में कई पाठ्यक्रम शुरू करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई है। विवि की स्थायी समिति की बैठक में इन पाठ्यक्रमों को शुरू करने का निर्णय लिया गया और इससे विवि में करीब पंद्रह सौ सीटें बढ़ जाएंगी। वहीं पहली बार बीएससी ऑनर्स ऑपरेशनल रिसर्च व बीएससी ऑनर्स इनवायरमेंट साइंस कोर्स की भी पढ़ाई शुरू होगी। कमेटी के एक सदस्य ने बताया कि लगभग 16 कॉलेजों में यह कोर्स अगले शैक्षणिक सत्र से शुरु हो सकेंगे। सभी पाठ्यक्रम स्नातक स्तर के हैं। अब इन पाठ्यक्रमों को औपचारिकता के लिये एकेडमिक काउंसिल व एग्जीक्यूटिव काउंसिल की बैठक में रखा जाएगा। बता दें कि कई कॉलेज अपने यहां नये पाठ्यक्रम शुरू करने की मांग करते आ रहे थे।