प्राथमिक स्कूलों में अब बीएड डिग्री धारक भी पढ़ा सकेंगे

अभी तक प्राथमिक कक्षाओं को जेबीटी ही पढ़ाते थे
बीएड वालों को करना होगा छह महीने का ब्रिज कोर्स एनसीटीई ने जारी की नई अधिसूचना

नई दिल्ली। देशभर के स्कूलों में अब बीएड डिग्री धारक प्राथमिक कक्षाओं की भी क्लासेज ले सकेंगे। नेशनल काउंसिल फोर टीर्चस एजुकेशन (एनसीटीई) ने इस संबंध में अधिसूचना जारी की है। इसमें कहा गया है कि बीएड डिग्री धारक अब पहली से पांचवीं कक्षाओं के बच्चों को भी पढ़ा सकते हैं। ऐसे शिक्षकों को दो साल के अंदर ब्रिज कोर्स भी करना होगा। यह ब्रिज कोर्स छह महीने का होगा, जो एनसीटीई से होगा।एनसीटीई की अधिसूचना के अनुसार बीएड डिग्री धारक के स्नातक में 50 फीसद अंक होने चाहिए। बता दें कि अभी तक जेबीटी धारक ही प्राथमिक कक्षाओं को पढ़ा सकते थे,जबकि बीएड डिग्री धारक छठी से आठवीं तक की कक्षाएं लेते हैं। प्राथमिक कक्षाओं के लिए प्राथमिक शिक्षकों के तौर पर स्कूलों में नियुक्ति होती है, जबकि बीएड डिग्री धारक की टीजीटी शिक्षक के तौर पर नियुक्ति होती है। बाद में यह शिक्षक पीजीटी बन कर 12 तक की कक्षाएं लेते हैं। बता दें स्कूलों में प्राथमिक कक्षाओं के शिक्षकों की काफी कमी है। अभी हाल में दिल्ली नगर निगम में करीब 4 हजार 366 प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति के लिए विज्ञापन जारी किया गया है। इसका फायदा अब एमसीडी में शिक्षक की नौकरी पाने वाले को होगा। राजकीय विद्यालय शिक्षक संघ के महासचिव अजयवीर यादव ने बताया अभी तक बीएड डिग्री धारक केवल दिल्ली सरकार के स्कूलों में नौकरियों के लिए आवेदन कर सकते थे, लेकिन अब इस नई अधिसूचना से बेरोजगार शिक्षकों को एमसीडी के स्कूलों में नौकरियां मिल सकेंगी।