विवि में प्लास्टिक की वस्तुओं पर प्रतिबंध लगाएं : यूजीसी

केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय के परामर्श के बाद यूजीसी ने जारी किया निर्देश


नई दिल्ली। विविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने सभी विविद्यालयों और उच्च शिक्षा संस्थानों को अपने कैम्पस में प्लास्टिक कपों, लंच बाक्स, स्ट्रा, बोतलों और बैगों के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए है। केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने परामर्श जारी करते हुए कहा है कि भारत इस साल विश्व पर्यावरण दिवस समारोह का नियंतण्र मेजबान है और इस साल की थीम ‘‘बीट प्लास्टिक पॉल्यशून’ है। इसके बाद आयोग ने यह निर्देश दिए हैं। विश्व पर्यावरण दिवस समारोह संयुक्त राष्ट्र के नेतृत्व में पर्यावरण पर सबसे बड़ा समारोह है। यूजीसी ने सभी कुलपतियों को भेजे पत्र में कहा कि उपयोग के बाद फेंकने वाले प्लास्टिक के कपों, प्लेटों, पॉलीस्ट्रीन फोम में बने डिब्बों और प्लास्टिक की स्ट्रॉ पर प्रतिबंध लगाए। एक बार इस्तेमाल करने योग्य प्लास्टिक की बोतलों पर रोक लगांए और इसके बजाय फिर से उपयोग की जा सकने वाली बोतलों के इस्तेमाल को बढ़ावा दें। आयोग ने विविद्यालयों से उपयोग के बाद फेंकने वाली प्लास्टिक पर जन जागरूकता पैदा करने और स्वच्छ भारत अभियान के तहत स्वच्छता अभियान चलाने के लिए भी कहा। पत्र में कहा गया है कि इस प्रतिष्ठित कार्यक्रम का आयोजन करना प्रदूषण के सभी रूपों से निपटने, उत्सर्जन कम करने और सतत विकास प्रयासों में निवेश करने पर नियंतण्र नेतृत्व करने की हमारी प्रतिबद्धता की ओर एक कदम है। इसमें कहा गया है कि यह प्लास्टिक का इस्तेमाल कम करने के साझा प्रयासों का एक अवसर है और मानव संसाधन विकास मंत्रालय चाहता है कि छात्रों को उनकी दिनर्चया में प्लास्टिक के उत्पादों का इस्तेमाल कम करने, न करने और उनका पुन : इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित किया जाए।