विनीत जोशी बने राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी के पहले महानिदेशक
 
नई दिल्ली।  राष्ट्रीय स्तर पर उच्च शिक्षण संस्थाओं में प्रवेश के लिये होने वाली परीक्षाएं आयोजित कराने के लिये  मंत्रिमंडल की स्वीकृति के बाद गठित की गई राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी एनटीए का पहला महानिदेशक वरिष्ठ नौकरशाह विनीत जोशी को नियुक्त किया गया है।  
कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग द्वारा जारी एक आदेश में कहा गया है कि 1992  बैच के मणिपुर कैडर के आईएएस अधिकारी जोशी को पांच साल के लिये पद पर नियुक्त किया गया है।  वित्त मंत्री अरुण जेटली ने वषर्2017-18  के अपने बजट भाषण में एनटीए गठित करने की घोषणा की थी। इसका गठन उच्च शिक्षण संस्थानों के लिये सभी प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करने के लिये स्वायत्त और आत्मनिर्भर संगठन के तौर पर किया गया है।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पिछले साल नवंबर में एनटीए के गठन को मंजूरी दी थी।   एनटीए के गठन से विभिन्न प्रवेश परीक्षाओं में बैठने वाले तकरीबन 40  लाख छात्रों को फायदा होगा।   इससे सीबीएसई,  एआईसीटीई और अन्य निकायों को इन प्रवेश परीक्षाओं के आयोजन से मुक्ति मिलेगी और छात्रों की अभियोग्यता,  बुद्धि और समस्या का हल करने की क्षमता का आकलन करने के लिये कठिनाई के स्तर का मानकीकरण होगा और विसनीयता आएगी।   मंत्रिमंडल ने इसकी संरचना को जो मंजूरी दी थी उसके अनुसार एनटीए की अध्यक्षता मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा नियुक्त जाने माने शिक्षाविद करेंगे। एनटीए में महानिदेशक के अलावा एक  एक बोर्ड ऑफ गवर्नर्स होगा जिसके सदस्य उपयोगकर्ता संस्थानों से होंगे।