शिक्षाधिकारी ने कार्यालय में पैर न छूने का नोटिस लगाया

    बहराइच। जिले के शिक्षा विभाग के एक अधिकारी ने अपने कार्यालय में किसी भी अधिकारी और कर्मचारी के पैर छूने पर रोक लगाने के लिखित आदेश जारी किए हैं। उक्त आदेश नोटिस बोर्ड पर चस्पा किए जाने की खबर सोशल मीडिया वाइरल हो गयी है। 
      बहराइच में राजेंद्र प्रसाद पाण्डेय जिला विद्यालय निरीक्षक के पद पर तैनात हैं। हाल ही में उन्होंने अपने कार्यालय के नोटिस बोर्ड पर तत्काल प्रभाव से लागू होने वाला एक आदेश चस्पा कराया जिसमें लिखा था किैकार्यालय में किसी भी अधिकारी कर्मचारी का चरण स्पर्श करना निषेध है।
 डीआईओएस पाण्डेय से जब उक्त विषय पर पूछा गया तो उनका कहना था किै शिक्षा विभाग से सम्बद्ध विभाग होने के कारण हमारे दफ्तर में ज्यादातर शिक्षक ही अपने कायरें को लेकर आते हैं और एक शिक्षक जब मेरे या किसी अन्य के पैर छुए तो अच्छा नहीं लगता।
     पाण्डेय ने पत्रकारों से कहा कि अपना काम निकालने के लिए चेहरे पर झूठी मुस्कान और अभिवादन के नाम पर पैर छूने की परंपरा आम हो चुकी है जो सर्वथा गलत है। ज्यादातर लोग तो पैर की बजाय घुटने ही छूने का दिखावा करते हैं। 
     उन्होंने कहा कि इस गलत परंपरा को अब यहाँ प्रतिबंधित कर दिया गया है। पैर छूने वाले कर्मचारी तथा शिक्षक आशीर्वाद की बजाय अब दंड के भागीदार हो सकते हैं।
     पाण्डेय ने कहा कि नोटिस के अनुसार सिर्फ मेरे ही नहीं कार्यालय में किसी भी अधिकारी तथा कर्मचारी के पैर छूने पर रोक लगाई गयी है। ये आदेश चाटुकारिता की परंपरा को रोकने के लिए तत्काल प्रभाव से लागू किये गये है।