सारे ज्ञान को किताबों में उतारा जाए :  हषर्वर्धन

 नयी दिल्ली। केंद्रीय मंत्री हषर्वर्धन ने आज कहा कि प्रकाशन उद्योग को एक तंत्र विकसित करना चाहिए ताकि लोग अपने ज्ञान को पुस्तकों में उतार सके ।  
फेडरेशन ऑफ इंडियन पब्लिशर्स द्वारा आयोजित 32 वें अंतरराष्ट्रीय प्रकाशक सम्मेलन को संबोधित करते हुए पर्यावरण मंत्री ने कहा कि सूचना और ज्ञान का हर अंश लोगों तक पहुंचना चाहिए । हषर्वर्धन ने कहा कि अगर ऐसी व्यवस्था बनती है तो ज्ञान के प्रसार में प्रकाशन उद्योग को बडा बढावा मिलेगा ।
अपना उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें अपने विचार को कागजों पर लाने में पांच से छह साल लगे । उन्होंने कहा कि ऐसे कई लोग हैं जिनके पास अनूठे विचार हैं लेकिन उन्हें लिखने की आदत नहीं होती जिसे बनाना है। 
विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री डा हषर्वर्धन ने कहा कि सूचना और ज्ञान को रिकार्ड करना और लोगों तक स्थानांतरित करना जरूरी है।मंत्री ने कहा कि यह आसान, सुगम और किफायती भी होना चाहिए। सभी मुमकिन भाषाओं में उपलब्ध होना चाहिए ताकि हर किसी की पहुंच ज्ञान तक हो।