गरीब बच्चों की फीस का भुगतान करे सरकार :प्राइवेट स्कूल संघ

भिवानी। हरियाणा प्राइवेट सकूल संघ ने आज मांग की कि शिक्षा विभाग प्राइवेट स्कूलों में नियम 134ए के तहत गरीब बच्चों को दिए गए दाखिले की फीस का तुरंत भुगतान करे और चेतावनी दी कि ऐसा नहीं हुआ तो स्कूल संचालक आगामी सत्र में शिक्षा विभाग द्वारा जारी लिस्ट के अनुसार दाखिला नहीं करेंगे। 
    संघ के प्रदेशाध्यक्ष सत्यवान कुंडू ने कहा कि प्राइवेट स्कूलों ने सरकार के आदेशों को मानते हुए नियम 134ए के तहत दस प्रतिशत गरीब बच्चों को एडमिशन दे दिया था, लेकिन अभी तक सरकार ने अपने वादे के अनुसार उनकी फीस का भुगतान नहीं किया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने नियम 134ए के तहत दाखिल बच्चों के लिए पिछले वर्ष दो सौ से पांच सौ रुपए तकदेने का नियम बनाया था, जिसे अगले वर्ष संशोधित किया जाना है, लेकिन पूरा सत्र बीत जाने के बाद अभी तक फीस का भुगतान नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार फीस का भुगतान करने में असमर्थ है तो नियम 134ए को समाप्त करके शिक्षा का अधिकार लागू करे जो कि पूरे देश में लागू है।
   श्री कुंडू ने कहा कि अगर सरकार ने जल्द ही फीस का भुगतान नहीं किया तो अगले सत्र में शिक्षा विभाग द्वारा जारी की गई बच्चों की लिस्ट के अनुसार प्राइवेट स्कूल संचालक दाखिला नहीं करेंगे।  श्री कुंडू ने कहा कि सरकारी स्कूलों का कैलेंडर जबरदस्ती प्राइवेट स्कूलों पर थोपना गलत है। बिना धुंध व बिना सर्दी के मौसम में अगर प्राइवेट स्कूल बच्चों को पढ़ाने का काम करते हैं तो उनको जुर्माने की धमकी देकर जबरदस्ती स्कूल बंद करवा दिया जाता है, जो ¨नदनीय है। उन्होंने मांग की कि अगर साफ मौसम में कोई स्कूल लगता है तो उस पर सरकारी कैलेंडर लागू नहीं किया जाना चाहिए।