नई शिक्षा नीति के लिए समिति ने और तीन महीने का समय मांगा

 

            नयी दिल्ली, 21 दिसंबर।  मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा नियुक्त समिति जिसे नई शिक्षा नीति बनाने का जिम्मा सौंपा गया है उसने मार्च 2018 तक, तीन महीने का विस्तार देने का अनुरोध किया है।
            इसरो के पूर्व प्रमुख के कस्तूरीरंगन की अध्यक्षता वाली समिति का गठन मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एचआडी) ने जून माह में किया था और इस समिति को अपनी रिपोर्ट इसी महीने जमा करनी थी।
            सूत्रों के मुताबिक समिति अभी भी विभिन्न पक्षकारों के साथ सलाह मशविरा कर रही है और मसौदा नीति तैयार करने के लिए उसने और तीन महीने का समय देने की मांग की है। वर्तमान राष्ट्रीय शिक्षा नीति वर्ष 1986 में बनाई गई थी और वर्ष 1992 में उसमें संशोधन किया गया था। नई शिक्षा नीति  भाजपा के घोषणा पत्र का हिस्सा थी। कस्तूरीरंगन के अलावा समिति में आठ सदस्य हैं।